केंद्र का राज्यों को निर्देश सख्ती से हो लॉकडाउन का पालन, उल्लंघन करने वालों पर हो कार्रवाई

पीएम ने ट्वीट कर कहा, लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. कृपया कर खुद को और अपने परिवार को बचाएं. राज्य सरकार से कहा है कि लॉकडाउन का पालन गंभीरता से कराएं.

नई दिल्ली: देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश के 14 राज्य और 82 जिलों को पूरी तरह 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है. जिसमें यूपी के 15 जिलों में 25 मार्च तक बंदी रहेगी, जबकि तीन राज्यों में आंशिक बंदी की घोषणा की गई है.  वहीं इसके बाद भी यह देखने में आ रहा है कि लोगों का अपने घर से बाहर निकलना जारी रखा है. इसके चलते पीएम मोदी ने सभी राज्य सरकारों को इसे सख्ती से पालन करवाने के लिए कहा है.

जनता कर्फ्यू के बाद लॉकडाउन की स्थिति पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया है, ‘लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें. राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानून का सख्ती से पालन करवाएं.’

रविवार को जनता कर्फ्यू के बाद शाम को पांच बजे के बाद कुछ शहरों में लोगों के एकत्र होने और सामूहिक शंखनाद जैसी तस्वीरें सामने आई थी. कुछ जगह लोग थालियां और घंटियां लेकर सड़कों पर रैली ही निकालने लगे थे. जिसका  सोशल मीडिया पर वीडियो डाल कर लोगों ने रोष भी प्रकट किया. इसी के बाद लॉकडाउन को देश के अन्य राज्यों ने सारी रात के लिए बढ़ा दिया और जनता से गुजारिश की है कि वह बहुत जरूरी हो तभी घरों से निकलें.

READ  पति के साथ मिलकर 14,000 से ज्यादा लोगों को जमीन दिलवाई, अब पद्मभूषण पा रही हैं

देश के कई शहरों में निकले जुलूस का विरोध भी हो रहा है. मध्यप्रदेश के इंदौर में भी लोगों ने जुलूस निकाला गया जिसकी चहूं ओर भर्त्सना हो रही है. वहीं कुछ लोग अपने शहर में निकले इस जुलूस के खुद को शर्मसार महसूस कर रहे हैं इसमें एबीपी के पत्रकार सुमित अवस्थी भी हैं जिन्होंने ट्वीट कर लिखा,’बेहद अफ़सोस है कि मेरे बचपन के शहर #इन्दौर ने पूरे देश का मान कम कर दिया! सबसे स्वच्छ शहर सबसे असंवेदनशील निकला! शाम के 5 बजते ही इन्दौरियों ने #जनताकर्फ्यू के परखच्चे उड़ा दिए. सैकड़ों की संख्या में राजबाड़ा पहुंचे लोग, कहां थी इन्दौर पुलिस? @MPPoliceOnline सबकी मेहनत पर पानी फेर दिया. लोग वहां की पुलिस व्यवस्था पर भी सवाल कर रही है.’

वहीं केंद्र सरकार की तरफ से इसके लिए निर्देश जारी किया गया है कि लोग लॉकडाउन का पालन नहीं करता है तो उस पर कानूनी एक्शन लिया जा सकता है.

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को लेकर हुए जनता कर्फ्यू को रविवार को पूरा समर्थन मिला था. इसके बाद पीएम ने कहा था कि लोगों का आभार प्रकट करते हुए कहा था कि जनता कर्फ्यू रविवार रात 9 बजे खत्म हो जाएगा, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम उत्सव मनाना शुरू कर दें. लोग इसको सफलता ना मानें, यह एक लंबी लड़ाई की शुरुआत है.वहीं पीएम ने यह भी कहा था कि देशवासियों ने साबित कर दिया कि हम ठान लें तो बड़ी से बड़ी चुनौती को एकजुट कर हरा सकते है.

READ  CAA, NPR and NRC: Confusion and connection explained

सरकारी आंकड़ों में अब तक कोरोना से पीड़ित 430 मामले सामने निकल कर आए हैं. इसमें से 41 विदेशी हैं. 7 लोगों की मौत भी हो चुकी है. केंद्र और राज्य सरकारों की तरफ से लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जा रहा है, महामारी को फैलने से रोकने के लिए कई कदम भी उठाए गए हैं. वहीं विदेशों में फंसे भारतीय लोगों को भी सरकार वापस लाया जा रहा है और जिन देशों में अभी भी लोग फंसे हैं उन्हें वापस लाने के लिए प्रयास में जुटी है.

News Reporter
A team of independent journalists, "Basti Khabar is one of the Hindi news platforms of India which is not controlled by any individual / political/official. All the reports and news shown on the website are independent journalists' own reports and prosecutions. All the reporters of this news platform are independent of And fair journalism makes us even better. "

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: