कितने राज्यों के कितने लोग, तबलीगी जमात से लौटने के बाद कोरोना पॉजिटिव निकले?

 कितने राज्यों के कितने लोग, तबलीगी जमात से लौटने के बाद कोरोना पॉजिटिव निकले?

कितने राज्यों के कितने लोग, तबलीगी जमात से लौटने के बाद कोरोना पॉजिटिव निकले? Basti Khabar

दिल्ली का निजामुद्दीन इलाका. यहां की आलमी मरकज़ बंगलेवाली मस्ज़िद में मार्च के महीने में तबलीगी जमात हुई थी. देश-विदेश के करीब 3000 लोग शामिल हुए थे. 30 मार्च की शाम मरकज़ को खाली कराया गया. तब करीब 1000 लोग वहां मौजूद थे. इनमें से 334 लोगों को कोरोना वायरस टेस्ट के लिए भेजा गया, 700 को क्वारंटीन किया गया. रिपोर्ट्स हैं कि देश के कई राज्यों से निजामुद्दीन की तबलीगी जमात में शामिल होने आए लोग कोरोना पॉजिटिव निकल रहे हैं.

अब तक ऐसे कितने मामले सामने आए? राज्यवार जानिए

तमिलनाडु- 31 मार्च को कोरोना के 57 कन्फर्म मामले आए. तमिलनाडु के हेल्थ सेक्रेटरी ने जानकारी दी कि राज्य के 1500 लोग दिल्ली में तबलीगी जमात में शामिल होने गए थे. उनमें से 1130 लौटे, बाकी अभी दिल्ली में ही हैं. लौटने वाले लोगों में से 515 लोगों की पहचान हो गई है. इनमें से 50 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

आंध्र प्रदेश- यहां के 700 से भी ज्यादा लोग तबलीगी जमात में शामिल हुए थे. इन लोगों को ट्रेस करने की कोशिश हो रही है. बहुतों को ट्रेस करके टेस्ट भी किया जा रहा है. 31 मार्च को राज्य में कोरोना के 17 कन्फर्म मामले आए. इनमें से आठ लोग ऐसे हैं, जिन्होंने तबलीगी जमात में हिस्सा लिया था. छह ऐसे हैं, जो जमात में शामिल होने वालों के संपर्क में आए थे.

इसके पहले गुंटूर ज़िले में 52 साल का एक व्यापारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, वो भी तबलीगी जमात में शामिल हुआ था. अब राज्य में कोरोना के 44 कन्फर्म मामले हो चुके हैं.

READ  गार्गी कॉलेज में छात्राओं से छेड़खानी मामले में 10 गिरफ्तार, आरोपी दिल्ली-एनसीआर के कई कालेजों के छात्र
Nizamuddin
निजामुद्दीन के मरकज़ से क्वारंटीन और अस्पताल जाते लोग. फोटो क्रेडिट- PTI.

तेलंगाना- यहां रहने वाले छह लोग, जिन्होंने तबलीगी जमात अटेंड की थी, उनकी कोरोना वायरस की वजह से मौत हो चुकी है. वहीं अब सरकार उन सभी लोगों को ट्रेस कर रही है, जो निजामुद्दीन गए थे. इनकी संख्या करीब 1000 में है. 31 मार्च को तेलंगाना में कोरोना के 15 कन्फर्म केस सामने आए. सरकार के मुताबिक, इन सभी ने तबलीगी जमात में हिस्सा लिया था.

अंडमान और निकोबार- 15 लोग तबलीगी जमात में शामिल होने आए थे. नौ लोग लौटे, सभी के सभी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अभी पोर्ट ब्लेयर के जीबी पंत अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में हैं. बाकी छह लोग दिल्ली में क्वारंटीन किए गए हैं.

दिल्ली- यहां तबलीगी जमात में शामिल होने वाले 24 लोग अब तक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, बाकियों का टेस्ट हो रहा है.

जम्मू-कश्मीर- कोरोना वायरस की वजह से यहां अब तक दो की मौत हो चुकी है. इनमें से एक व्यक्ति निजामुद्दीन की तबलीगी जमात में शामिल हुआ था. श्रीनगर का रहने वाला था. दिल्ली से लौटने के बाद उसने यहां भी चार-पांच जमात का आयोजन किया था. तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया और 26 मार्च को उसकी मौत हो गई. उसके परिवार के सभी लोगों का टेस्ट कोरोना निगेटिव आया है, लेकिन बाकी जिन लोगों से वो संपर्क में आया था, उनमें से कुछ का टेस्ट पॉजिटिव आया है. बाकियों की ट्रेसिंग की जा रही है. अधिकारियों का कहना है,

READ  सटोरियों के मुताबिक दिल्ली में इस पार्टी की सरकार बननी तय है

‘उसने दिल्ली से लौटने हुए कइयों को संक्रमित किया होगा. हमने 300 लोगों की ट्रेसिंग करके उन्हें क्वारंटीन कर दिया है.’

Untitled Design (37)
तबलीगी जमात के सेंटर से निकाले गए लोगों के चलते हड़कंप मच गया है.

मध्य प्रदेश- रिपोर्ट के मुताबिक, यहां के 107 लोग तबलीगी जमात में शामिल हुए थे. अधिकारियों का कहना है कि 82 लोगों को ट्रेस कर लिया गया है. उनके एड्रेस मिल गए हैं. इनमें से बहुतों को क्वारंटीन कर दिया गया है और बाकियों को जल्द ही ट्रैक कर लेंगे.

महाराष्ट्र- सरकार भी तबलीगी जमात अटेंड करके लौटने वालों का पता लगा रही है. अभी तक एक आदमी का पता चला है, जो फिलिपीन्स का नागरिक था. निजामुद्दीन से जमात अटेंड करके लौटा था, जिसकी कुछ दिन पहले नवी मुंबई में कोरोना की वजह से मौत हो गई.

इसके अलावा बाकी राज्य भी तबलीगी जमात में शामिल होने वाले, या जो शामिल हुए थे, उनके कॉन्टैक्ट में आने वालों को ट्रेस कर रहे हैं.