Top

मॉनसून सत्र के पहले Covid-19 टेस्ट में 25 सांसद मिले कोरोना पॉजिटिव

मॉनसून सत्र के पहले Covid-19 टेस्ट में 25 सांसद मिले कोरोना पॉजिटिव
X

सोमवार के संसद के मॉनसून सत्र की शुरुआत हो चुकी है, लेकिन इसके पहले 25 सांसद कोरोनावायरस से पॉज़िटिव पाए गए हैं.

नई दिल्ली: सोमवार के संसद के मॉनसून सत्र (Parliament Monsoon Session) की शुरुआत हो चुकी है, लेकिन इसके पहले 25 सांसद कोरोनावायरस से पॉज़िटिव (Loksabha MPs Covid positive) पाए गए हैं. इन सांसदों का 13 और 14 सितंबर को संसद भवन में टेस्ट कराया गया था. पॉ‍जिटिव पाए गए सांसदों में से लोकसभा के 17 और राज्‍यसभा के 8 सांसद शामिल हैं. लोकसभा के कोरोना संक्रमित सांसदों में सबसे ज्यादा 12 सांसद बीजेपी के हैं. YRS कांग्रेस के दो, शिवसेना, DMK के और RLP के एक-एक सांसद हैं.

सूत्रों ने बताया कि पॉलियामेंट परिसर में 12 सितंबर को हुए RT-PCR Tests में कुल 56 लोग पॉ‍जिटिव पाए गए, इमसें लोकसभा और राज्‍यसभा सांसदों के अलावा आफिशियल और मीडियाकर्मी भी शामिल हैं. कोरोना पॉजिटिव पाई गईं लोकसभा से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने ट्वीट किया, 'टेस्‍ट में मुझे कोरोना संक्रमित पाया गया है. मैं हाल ही में संपर्क में आए सभी लोगों से टेस्‍ट कराने की अपील करती हूं. हम कोरोना से लड़ेंगे और जीतेंगे. '

बता दें कि मॉनसून सत्र शुरू होने से पहले यह नियम बनाया गया था कि सभी सांसद और कर्मचारी कोविड टेस्ट कराएंगे, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही उन्हें परिसर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. नियम यह भी है कि उनकी रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पहले की नहीं होनी चाहिए.बता दें कि मॉनसून सत्र शुरू होने से पहले दोनों सदनों के कई उम्रदराज सांसदों ने इसपर चिंता जताई थी. उनका कहना था कि सत्र शुरू होने पर गाइडलाइंस के बीच भी हर वक्त परिसर में कम से कम 2,000 लोग मौजूद रहेंगे. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, राज्यसभा के 240 सांसदों में से 97 सांसद 65 साल से ज्यादा है, वहीं 20 ऐसे सांसद हैं, जिनकी उम्र 80 साल के ऊपर है, जिसमें 87 साल के मनमोहन सिंह और 82 साल के एके एंटनी का नाम शामिल है.

वैसे, देश में कोविड महामारी शुरू होने से लेकर मॉनसून सत्र शुरू होने के पहले तक सात केंद्रीय मंत्री और दोनों सदनों को मिलाकर लगभग दो दर्जन सांसद अबतक कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं. यहां तक कि लोकसभा में तमिलनाडु से सांसद एच वसंतकुमार की कोरोना से मौत भी हो चुकी है. इसके अलावा देश में कई विधायकों की मौत भी कोरोना के चलते हुई है.

कोविड-19 के बीच शुरू हुआ मॉनसून सत्र 1 अक्टूबर तक चलेगा. इस दौरान सख्ती से कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन किया जा रहा है. इसके तहत फेस मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की अनिवार्यता बनाई गई है. वहीं सदन में हर सीट पर पॉली-कार्बन ग्लास लगाया गया है.

Next Story
Share it