35 C
Uttar Pradesh
Monday, September 20, 2021

मिशन शक्ति के अन्तर्गत माह अगस्त से दिसम्बर, 2021 की कार्ययोजना तैयार

भारत

e14612343fcbf6d3201345a840e96510?s=120&d=mm&r=g
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

19 अगस्त, 2021 को मेगा इेवेन्ट रक्षा उत्सव (बच्चों तथा महिलाओं को विभिन्न प्रकार की हिंसा से बचाव संबंधी कार्यक्रम) किया जायेगा- प्रमुख सचिव वी. हेकाली झिमोमी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वालंबन के लिये मिशन शक्ति के अन्तर्गत माह अगस्त से दिसम्बर, 2021 की कार्ययोजना तैयार की गयी है। मिशन शक्ति की कार्ययोजना के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रमुख सचिव वी. हेकाली झिमोमी ने जिलाधिकारियों को पत्र प्रेषित किया है।

प्रमुख सचिव ने बताया कि मिशन शक्ति 3.0 के अंतर्गत महिला कल्याण विभाग और बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा संयुक्त कार्ययोजना के अंतर्गत गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 07 अगस्त, 2021 को हक की बात जिलाधिकारियों के साथ महिला इंटरफेस कार्यक्रम किया गया है। 11 अगस्त, 2021 को कन्या जन्मोत्सव तथा ग्राम बाल संरक्षण समितियों की बैंठकें की गयी है। 12 अगस्त, 2021 को स्वालंबन कैम्प लगाये गये है। उन्होंने बताया कि 19 अगस्त, 2021 को मेगा इेवेन्ट रक्षा उत्सव (बच्चों तथा महिलाओं को विभिन्न प्रकार की हिंसा से बचाव संबंधी कार्यक्रम) किया जायेगा। 25 अगस्त, 2021 स्वावलंबन कैम्प लगाया जायेगा।

प्रमुख सचिव ने बताया कि मिशन शक्ति के अन्तर्गत विभिन्न माहों में अन्य गतिविधियों की आयोजित की जा रही हैं। जिसके अन्तर्गत अक्टूबर, 2021 तक संभव पोषण संवर्धन की ओर एक कदम अभियान बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा चलाया जा रहा है। दिसम्बर, 2021 तक प्रत्येक माह के अंतिम दिवस पर महिलाओं एवं किशोर किशारियों के सशक्तिकरण तथा बाल विवाह उन्मूलन हेतु जनपद स्तरीय बाल संरक्षण कार्ययोजना का अनुपालन किया जायेगा तथा राजकीय गृहों के भवनों का जीर्णाेद्वार किया जा रहा है।

प्रमुख सचिव ने बताया कि 19 अगस्त, 2021 को मेगा इवेन्ट रक्षा उत्सव के अन्तर्गत बच्चों तथा महिलाओं को विभिन्न प्रकार की हिंसा से बचाव संबंधी हाट बाजार आदि सार्वजनिक स्थानों पर कार्यक्रमों का आयोजन कर जन-सामान्य को जागरूक किया जायेगा। बेटियों से पहचान-नारी सम्मान थीम पर समस्त स्तरों (ग्राम/ब्लाक/जनपद) पर जन-जागरूक कार्यक्रम का आयोजन कर परिवारों तथा दुकानदारों आदि को जागरूक किया जायेगा कि वे अपने घरों व दुकानों को अपने परिवार की महिलाओं व बेटियों के नाम से पहचान दिया जायेगा।  

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें