Top

राजस्थान में नागौर जैसी एक और घटना, लड़के को शराब पिलाकर गुप्तांग में सरिया डाला

राजस्थान के नागौर में पिछले दिनों एक दलित लड़के के साथ क्रूरता हुई थी. ये मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ कि बाड़मेर से एक मुस्लिम लड़के के साथ बर्बरता की घटना सामने आई है. वो भी नागौर वाली घटना से मिलती-जुलती. इसका भी वीडियो सामने आया है. राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है और अशोक गहलोत मुख्यमंत्री हैं.

बाड़मेर ज़िले का तिरसिंगड़ी गांव. यहां के एक मुस्लिम लड़के को मोबाइल फोन चोरी के आरोप में दो लोगों ने बुरी तरह पीटा. आरोप है कि उसके गुप्तांग में लोहे का सरिया डाला गया. पीड़ित लड़का पेशे से ड्राइवर है और उसकी उम्र 23 साल बताई जा रही है. मारपीट करने वालों में मोती सिंह और भरत सिंह का नाम सामने आया है. दोनों भादरेश गांव के रहने वाले हैं.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, दोनों पर आरोप है कि लड़के को ढाबे पर बुलाकर शराब पिलाई गई. इसके बाद उसे दूसरी जगह ले जाकर लोहे की सरिया और चेन से पीटा गया. घटना 29 जनवरी की बताई जा रही है. लेकिन इसका वीडियो अब सामने आया है, जिसके के बाद पीड़ित के भाई ने FIR दर्ज कराई है. वीडियो सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो रहा है. पुलिस का कहना है कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

बाड़मेर SP शरद चौधरी ने कहा,

‘वीडियो जिसमें दिख रहा है कि पीड़ित को दो लोग पीट रहे हैं, वो एक महीने पुराना लगता है. दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और FIR दर्ज की गई है. जांच जारी है.’

SP ने बताया, “शिकायतकर्ता ने मोती सिंह और भरत सिंह के खिलाफ FIR दर्ज करवाई है. वीडियो फुटेज के आधार पर पहली नज़र में मोती सिंह का रोल इसमें स्पष्ट हो गया है. दूसरे आरोपी से पूछताछ की जा रही है.”

पीड़ित लड़के के भाई ने बताया कि पीड़ित ने अपने साथ हुई इस घटना पर चुप्पी साधे रखी. फिर किसी ने सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो शेयर कर दिया, तब परिवार को घटना का पता चला.

बीजेपी ने गहलोत सरकार को घेरा

केंद्रीय मंत्री और जोधपुर से बीजेपी सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत ने अशोक गहलोत सरकार को विफल बताते हुए ट्वीट किया,

नागौर की डरावनी घटना

इससे पहले नागौरजिले के करणु गांव का ऐसा मामला चर्चा में आया था. यहां दलित युवक के साथ बुरी तरह मारपीट कर आरोपियों ने उसके गुप्तांग में पेचकस में कपड़ा लपेटकर पेट्रोल डाल दिया था. घटना 16 फरवरी की थी. सोशल मीडिया पर इसका वीडियो सामने आने के बाद 19 फरवरी को सात आरोपियों के ख़िलाफ़ FIR दर्ज की गई और पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. युवक के साथ मौजूद एक और दलित युवक को पीटा गया था. दोनों मोटरसाइकिल की सर्विसिंग कराने के लिए एक एजेंसी पर गए थे जहां चोरी का आरोप लगाकर युवक और उसके चचेरे भाई को पीटा गया. इस मामले पर खासी राजनीति भी हुआ.

Next Story
Share it