Top

अयोध्या की दिवाली 2020: दीपोत्सव और दीपावली के लिए दुल्हन जैसी सज रही अयोध्या

अयोध्या की दिवाली 2020: दीपोत्सव और दीपावली के लिए दुल्हन जैसी सज रही अयोध्या
X

अयोध्या। राम की नगरी में जश्न का माहौल है, और हो भी क्यों नहीं! करीब 500 साल बीतने पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद रामजन्म भूमि पर मंदिर निर्माण का मार्ग जो प्रशस्त हुआ है। और वहां प्रभु श्रीराम के भव्य और दिव्य मंदिर का निर्माण भी शुरू हो गया है। खुशी इस बात की भी है कि इतने वर्षों बाद लोग अपने राम की जन्मभूमि पर वर्चुअल रूप से ही सही खुशियों के दीप जला सकेंगे। इस दोहरी खुशी के मौके को खास करने के लिए दीपोत्सव और दीपावली (11 से 14 नवम्बर) के लिए अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है।


पूरी अयोध्या इसकी तैयारियों में जुटी है। सड़कों के किनारों पर बैरिकेडिंग हो रही है। अधिकांश दीवारों को रामायण के प्रसंगों के अनुसार सजावट की जा रही है। जिससे पूरे कार्यक्रम में एकरूपता दिखेगी। दीपोत्सव के दौरान पूरी अयोध्या रौशनी से नहा उठे इसके लिए हर खंभे, हर पुल, गली, मोहल्ले, चौराहों ,घाटों और मन्दिरों की भव्य लाइटिंग की जा रही है। दीपोत्सव के दिन जहां-जहां कार्यक्रम होंगे जिमें लक्ष्मण,सीता सहित प्रभु श्रीराम का आगमन, भरत से मिलने की जगह, राजतिलक और राम की पैड़ी को भव्य रूप में सजाया जा रहा है।



दीपोत्सव के दिन दोपहर तीन बजे से रात के आठ बजे तक चलने वाले सभी कार्यक्रमों में एकरूपता दिखे इसलिए क्रम में मुख्य कार्यक्रम स्थलों के बैकग्राउंड एक ही रंग में होंगे। तिलकोत्सव, राजतिलक, सरयू आरती के दौरान वेदपाठी ब्राह्मण अवसर के अनुसार जब मंत्रपाठ करेंगे तो पूरे अयोध्या में सिर्फ वही धुन सुनाई देगी।

मंदिरों, मठों और अन्य धर्मस्थल के प्रबंधकों से प्रशासन इसमें सहयोग की अपील करेगा। पूरे कार्यक्रम का बड़ी-बड़ी स्क्रीन, स्क्रीन लगे वाहनों से सजीव प्रसारण होगा। तकनीक के जरिए देश-दुनिया के रामभक्त इस खुशी में शामिल हो सकेंगे।


दीप प्रज्जवलन में लगेंगे आठ हजार स्वयंसेवक

योगी सरकार का अयोध्या में यह चौथा दीपोत्सव है। बाकी अयोजनों की तरह इसमें भी 5.51 लाख दीपक प्रज्जविलत कर एक नया रिकॉर्ड बनाने की तैयारी है। इन दीपकों को जलाने में करीब आठ हजार स्वयंसेवकों जिसमें एनसीसी, एनएसएस, स्काउट और स्वयंसेवी संस्थाओं के लोगों की मदद ली जाएगी।

महानगर के अलग-अलग वार्डों में दीपक जलाने और साज-सज्जा भी काराई जाएगी। पूरे कार्यक्रम की ड्रोन के जरिए मैपिंग होगी। दीपोत्सव की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव पर्यटल मुकेश मेश्राम सहित शासन और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने अयोध्या का दौरा किया। इस दौरान प्रदेश और खासकर अयोध्या जिले के लोगों से अपील की, कि वह इस पूरे आयोजन को बेमिसाल बनाने में सहयोग करें। हर आयोजन के दौरान कोराना के प्रोटोकाल, मास्क और दो गज दूरी का पालन अनिवार्य होगा।

Dr. S. K. Singh

Dr. S. K. Singh

Dainik Jagran and Amar Ujala's senior journalist, Sub-Editor Basti Khabar, Co-Founder Basti Khabar Pvt. Ltd.


Next Story
Share it