31 C
Uttar Pradesh
Sunday, October 17, 2021

बस्ती: मनाई गई राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती

भारत

डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

बस्ती। स्वामी दयानंद विद्यालय सुर्तीहट्टा बस्ती में महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री की जयंती विद्यालय के बच्चों व शिक्षकों द्वारा अत्यंत हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। इस अवसर पर बच्चों ने भाषण, गीत, कविता व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। 

बच्चों को संबोधित करते हुए प्रबंधक ओम प्रकाश आर्य ने बताया कि महात्मा गांधी से हमने सीखा है कि बुरा मत देखो, बुरा मत सुनो, बुरा मत करो, उनके जीवन से हम उत्तम व्रत करना और अपने परम पुरुषार्थ से उसे पूरा करने की प्रेरणा प्राप्त कर सकते हैं। इन्हीं गुणों से प्रभावित होकर लाल बहादुर शास्त्री ने गाँधी जी के आंदोलनों में हिस्सा लेकर उसको सफल बनाने के लिए पूरी ऊर्जा लगाई पर जब उन्होंने देखा कि 1942 के आंदोलन में गाँधी जी करो या मरो का नारा दिया तो निर्भीकता पूर्वक उस नारे को मरो नहीं मारो में बदल दिया जिससे प्रभावित होकर देश के नौजवानों ने अंग्रेजों को देश से भगाने के लिए हुंकार भरी और फिरंगियों को देश छोड़ने पर विवश कर दिया।

इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन करते हुए शिक्षिका एकता गुप्ता ने बताया कि दोनों महापुरुषों के चरित्र हमें सादा जीवन उच्च विचार की प्रेरणा देते हैं। प्रधानाध्यापक अदित्यनारायन गिरि ने कहा कि गाँधी जी अपने सत्य व अहिंसा के बल पर पूरे देश को अपना अनुयायी बना लिया और शास्त्री जी ने अपने सादगी व दृढ़ निश्चय से पूरी दुनिया को भारत के आगे झुका दिया था। उनके अदम्य साहस व मिलनसार व्यक्तित्व के कारण लोग खुलकर अपनी बात उनसे कहते थे व उनकी बातों को मानते थे। इस अवसर पर अनूप कुमार त्रिपाठी, नितेश कुमार, दिनेश मौर्य, अरविन्द श्रीवास्तव, चाँदनी, श्रेया, शुभ्रा, सोनिया व अनीशा मिश्रा ने दोनों महापुरुषों के बारे में प्रेरक प्रसंग बताये। अंत मे प्रधानाध्यापक गरुण ध्वज पाण्डेय ने कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए बच्चों को छोटे छोटे व्रत लेकर जीवन को उत्तम बनाने की प्रेरणा दी।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें