Basti District Health Update: अब टीबी मरीजों के नमूने पहुंचाएगा डाक विभाग

टीबी की बीमारी में जांच और इलाज की तेजी के लिए डाक विभाग के बीच हुआ अनुबंध।

अब डाकिया टीवी मरीजों के नमूने सीबी नाट सेंटर और लखनऊ लैबोरेट्री तक पहुंचाएंगे।

प्रधानमंत्री द्वारा 2025 तक देश से क्षय रोग के खात्मे के लिए कई प्रकार की योजनाएं और कार्यक्रम प्रारंभ किए गए हैं। इसी के तहत स्वास्थ्य भवन में राज्य क्षय रोग विभाग और भारतीय डाक विभाग के बीच अनुबंध हुआ है।

जिसमें 75 जिलों में टीबी मरीजों के नमूने लैब तक पहुंचाने का काम डाकिया करेंगे। इससे पहले नमूने कोरियर से भेजे जाते थे।

इस तरह की व्यवस्था लागू करने वाला ‘उत्तरप्रदेश’ देश का पहला राज्य बन गया है।

अब 23 अधिकृत डेजिग्नेटेड माइक्रोस्कोपिक सेंटर (डीएमसी) से 24 घंटे के अंदर सीबी नॉट सेंटर तक नमुने पहुंचाने का काम डाक विभाग करेगा।

सीबी नाट सेंटर से प्रदेश के लखनऊ, आगरा, अलीगढ़, बरेली, मेरठ, वाराणसी, गोरखपुर और इटावा में स्थित ड्रग कल्चर सेंसटिविटी टेस्ट सेंटर तक 48 घंटे के अंदर नमूने पहुंचाने का काम किया जाएगा।

डीटीओ (डिस्ट्रिक्ट ट्यूबरक्लोसिस अफसर) डॉक्टर सी एल कन्नौजिया ने बताया की टीबी के मरीजों में सबसे बड़ी चुनौती जल्दी से जल्दी जांच कराने की होती है। क्योंकि मंरीज अनजाने में न जाने कितने लोगों को संक्रमित कर सकता।

अब जांच में तेजी आएगी और इलाज भी जल्दी शुरू किया जाएगा।जिससे संक्रमण का खतरा कम होगा।

इस कार्यक्रम की रूपरेखा विश्व क्षय रोग दिवस 24 मार्च को ही तय हो गई थी। जिसे अब लागू किया जा रहा है।

READ  Basti Coronavirus Update: क्वारंटीन सेंटर में मुंबई से आये व्यक्ति की मौत

Related post