Basti News in Hindi: कोविड-19 के रोकथाम में बाधा डालने वालों के विरुद्ध होगी एफआईआर दर्ज

 Basti News in Hindi: कोविड-19 के रोकथाम में बाधा डालने वालों के विरुद्ध होगी एफआईआर दर्ज

समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी बस्ती आशुतोष निरंजन

बस्ती। कोविड-19 के रोकथाम एवं बचाव में बाधा बनने वालों के विरूद्ध तत्काल एफआईआर दर्ज कराने के लिए जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने सभी एसडीएम को निर्देश दिया है। पुलिस लाईन सभागार में आयोजित कोविड-19 की साप्ताहिक बैठक में उन्होने कहा कि कोविड-19 संक्रमण को छिपाने तथा उसकी जाॅच कराने में सहयोग न करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज किया जाय। 

कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति पूरे परिवार एवं समाज को संक्रमित कर सकता है। किसी एक व्यक्ति की नादानी से पूरे समाज को संक्रमित नही होने दिया जायेंगा। इसलिए यह आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति अपनी जाॅच कराये और पाॅजिटिव पाये जाने पर होमआईसोलेशन एवं एल-1 हास्पिटल में अपना ईलाज करा ले।

समीक्षा के दौरान चिकित्सको ने बताया कि लोग बीमारी छुपा रहे है, जाॅच करने गयी आरआर टीम से दुरव्यवहार कर रहे है तथा हास्पिटल में भी इलाज में सहयोग नही कर रहे है। यह भी ज्ञात हुआ है कि एक व्यक्ति जिसे होमआईसोलेशन से एल-1 हास्पिटल शिफ्ट किया गया था, वहाॅ डाक्टरों पर दबाव बनाकर एल-2 कैली हास्पिटल में चला गया। 

जिलाधिकारी ने ऐसे प्रकरणों को गम्भीरता से लेने तथा जाॅच एवं ईलाज में सहयोग न करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर कराने का निर्देश दिया है।  उन्होने सभी एमओआईसी को निर्देश दिया है कि सहयोग न करने वाले व्यक्ति की सूचना तत्काल संबंधित एसडीएम को उपलब्ध कराये। उन्होने कहा कि मुण्डेरवा में कोविड-19 हास्पिटल पुनः शुरू किया गया है यहाॅ पर महिला मरीजो को भेजा जा सकता है। ओपेक कैली अस्पताल में केवल गम्भीर रोगियों को भेजा जायेंगा। 

READ  Basti: कोरोना का संदिग्ध मरीज जिला अस्पताल में भर्ती, जांच के लिए भेजा गया नमूना

समीक्षा में उन्होने पाया कि होम आईसोलेशन में 157 मरीज है परन्तु सभी का विवरण पोर्टल पर अपलोड नही है। सल्टौआ, कुदरहाॅ, रामनगर में एक भी मरीज का विवरण पोर्टल पर नही है। बस्ती अर्बन क्षेत्र में 22 में 2 मरीजो का विवरण पोर्टल पर है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि 17 दिन होम आईसोलेशन पूरा करने से पहले बाहर धूमता हुआ व्यक्ति मिले तो उसे एल-1 हास्पिटल में शिफ्ट करें। पिछले सप्ताह में ऐसे तीन लोगों को एल-1 हास्पिटल भेजा गया है। 

कोविड-19 के मरीजो के कान्टैक्ट ट्रेसिंग कम होने पर जिलाधिकारी ने असंतोष व्यक्त किया है। समीक्षा में उन्होने पाया कि पिछले 15 दिनों में 550 पाॅजिटिव मरीजो के सापेक्ष मात्र 2508 का कान्टैक्ट ट्रेसिंग किया गया है। जबकि शासन के निर्देशानुसार एक मरीज पर कम से कम 15 लोगों का कान्टैक्ट ट्रेसिंग किया जाना है। उन्होने कहा कि इस गति से कान्टैक्ट ट्रेसिंग करने पर हम कोरोना के चेन नही तोड़ पायेंगे। मरवटिया में 137 के सापेक्ष 226 तथा बस्ती अर्बन में 62 के सापेक्ष 151 कान्टैक्ट ट्रेसिंग हुयी है जो काफी कम है। 

जिलाधिकारी ने संतोष व्यक्त किया कि मरीजो के कान्टैक्ट ट्रेसिंग वाले कुल 24390 के सापेक्ष 24304 का कोरोना टेस्ट किया गया है जो कि 99 प्रतिशत है। उन्होने कोरोना टेस्ट की गुणवत्ता बनाये रखने पर विशेष बल दिया। 

जिला सर्विलान्स अफसर डाॅ0 सीके वर्मा ने बताया कि 21 जुलाई से जिले में कुल 95867 लोगों का टेस्ट कराया गया है। इसमें 44780 एन्टीजन, 48045 आरटीपीसीआर तथा 3042 ट्रुनेट मशीन से जाॅच किया गया है। इसमें कुल 2682 पाॅजिटिव मिले है। इसमें 1388 एन्टीजन, 997 आरटीपीसीआर तथा 297 ट्रुनेट मशीन से जाॅच किए गये मरीज है। 

READ  Basti Coronavirus Updates: बस्ती में 6 नए कोरोना संक्रमित मामले

बैठक का संचालन ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नन्दकिशोर कलाल ने किया। उन्होने सभी एमओआईसी एवं बीपीएम से कहा कि कान्टैक्ट ट्रेसिंग तथा उनकी जाॅच रिपोर्ट सेम डे पोर्टल पर दर्ज कराना सुनिश्चित करें।

उन्होने बताया कि कोविड-19 पाॅजिटिव केस मिलने पर नगर क्षेत्र में नगर निकाय तथा ग्रामीण क्षेत्र में बीडीओ द्वारा कन्टेनमेन्ट जोन बनाने की कार्यवाही की जायेंगी। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता पाये जाने पर दोषी व्यक्ति के विरूद्ध कार्यवाही की जायेंगी। बैठक में सीएमओ डाॅ0 एके गुप्ता, डाॅ0 फखरेयार हुसैन, डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी आशाराम वर्मा, आनन्द श्रीनेत, डाॅ0 रोचस्पति पाण्डेय, डाॅ0 सुषमा सिन्हा, डाॅ0 रामप्रकाश, आलोक राय, डाॅ0 जलज तथा प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहें। 

Related post