28.3 C
Uttar Pradesh
Friday, September 30, 2022

महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती का नाम हुआ दार्शनिकों की सूची में शामिल

भारत

डॉ. एसके सिंह
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

बस्ती। जिले के आर्य समाज के पदाधिकारियों व सदस्यों ने महान समाज सुधारक, धुरंधर शास्त्रार्थी, वेदों के भाष्यकार, सत्यार्थ प्रकाश ,गौ करुणानिधि, संस्कार विधि, व्यवहार भानु जैसे लगभग 40 से अधिक ग्रंथों के लेखक व आर्य समाज के संस्थापक महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती को दार्शनिकों की सूची में शामिल करने के लिए भारत सरकार के प्रति हार्दिक आभार जताया है। इस अवसर पर ओम प्रकाश आर्य अन्तरंग सदस्य आर्य प्रतिनिधि सभा, लखनऊ ने बताया कि आर्य समाज का केंद्रीय नेतृत्व विगत कई वर्षों से इसके लिए प्रयास कर रहा था जो अब जाकर भारत सरकार ने मंजूरी दी।

श्री आर्य ने बताया कि अब यू जी सी नेट के पाठ्यक्रम के माध्यम से विद्यार्थियों को महर्षि दयानंद का दर्शन पढ़ने को मिलेगा। उनके वैदिक दर्शन, समाज सुधार के कार्य व राष्ट्रहित में उनके योगदान को जान समझकर विद्यार्थियों में राष्ट्रवाद की भावना प्रबल होगी और वैदिक संस्कृति में उनकी रुचि बढ़ेगी। वानप्रस्थी राम शंकर मुनि ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री डॉ सुभाष सरकार व केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान सहित पूरे मंत्रिमंडल के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए कहा कि महर्षि दयानंद सरस्वती ने देश की शिक्षा, कृषि, पशुपालन व आर्ष ग्रन्थों के अध्ययन में अपना विशेष योगदान दिया है। भारतवर्ष उनका सदैव ऋणी रहेगा।

इस अवसर पर आनंद स्वरूप सिंह कौशल, मुरलीधर भारती, सत्येन्द्र वर्मा, सुभाष चन्द्र आर्य, हरिपति पाण्डेय, देवव्रत आर्य, अजय अग्निहोत्री, गरुण ध्वज पाण्डेय, अशोक आर्य-खलीलाबाद, ओम प्रकाश आर्य-मगहर, गिरिजाशंकर द्विवेदी, संतोष आर्य, बृजकिशोर आर्य आदि ने भारत सरकार के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की।

Advertisement
- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें