Top

बस्ती के तीन किसानों को पूसा विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा मिला राज्य स्तरीय नवाचारी कृषक सम्मान

बस्ती के तीन किसानों को पूसा विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा मिला राज्य स्तरीय नवाचारी कृषक सम्मान
X

सम्मान प्राप्त करते कृषक बृजेंद्र बहादुर पाल

सुगन्धित धान व जैविक तरीके से सब्जियों के उत्पादन, धान के नई वैराइटी की खोज, मधुमक्खी पालन व बागवानी के क्षेत्र में तीनों किसानों के विशेष योगदान पर बिहार में मिला सम्मान

बस्ती। जनपद के खेती बाड़ी के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना चुके तीन किसानों क्रमशः सदर ब्लाक के गौरा गाँव के प्रगतिशील किसान राम मूर्ति मिश्रा, रुधौली ब्लाक के पचारी कला गाँव के प्रगतिशील किसान वृजेन्द्र बहादुर पाल व दुबौलिया ब्लाक के किसान अहमद अली को बिहार में आयोजित हुए एक सम्मान समारोह में डॉ राजेन्द्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कुलपति डॉ आर सी श्रीवास्तव द्वारा राज्य स्तरीय नवाचारी कृषक सम्मान से नवाजा गया है।

फार्म एन फ़ूड और आग़ा खान ग्राम समर्थन कार्यक्रम के संयुक्त तत्वाधान में इस राज्य स्तरीय फार्म एन फ़ूड -एकेआरएसपी (आई) अवॉर्ड 2020 का आयोजन कृषि विज्ञान केंद्र बरौली समस्तीपुर बिहार में किया गया। जिसके मुख्य अतिथि डॉ राजेन्द्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कुलपति डॉ आर सी श्रीवास्तव व डॉ एम एस कुंडू निदेशक प्रसार रहे। राज्य स्तरीय पुरस्कार पाने वाले जनपद के इन किसानों नें कम लागत के जरिये अधिक लाभ कमाने का रिकार्ड बनाया है।

राज्य स्तरीय पुरस्कार पाने वाले सदर ब्लाक के गौरा गाँव के प्रगतिशील किसान राम मूर्ति मिश्रा नें सुगन्धित धान व जैविक तरीके से सब्जियों के उत्पादन में अपनी एक अलग पहचान कायम की है। वहीँ रुधौली ब्लाक के पचारी कला गाँव के प्रगतिशील किसान वृजेन्द्र बहादुर पाल धान के नई वैराइटी की खोज कर पूरे प्रदेश के किसानों के लिए माडल के तौर पर उभरे हैं। पुरस्कार पाने वाले दुबौलिया ब्लाक के किसान अहमद अली मधुमक्खी पालन व बागवानी के लिए जाने जाते हैं।

इस कार्यक्रम में बस्ती के इन किसानो के अलावा बिहार के विभिन्न जिलों भी 17 किसान भी सम्मानित किये गए। किसानों को पुरस्कृत करनें के उपरांत केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कुलपति डॉ आर सी श्रीवास्तव ने बस्ती के इन तीनों किसानों के कृषि माडल को समझनें के बाद उनकी सराहना की। उन्होंने किसानों के आय बढ़ाने के उपायों पर भी चर्चा की।

कार्यक्रम में एकेआरएसपीआई-इंडिया के सी ई ओ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से किसानों को संबोधित किया। आगा खान ग्राम समर्थन कार्यक्रम के बिहार प्रमुख सुनील पांडेय नें कहा की एकेआरएसपीआई-इंडिया किसानों जरुरी सहयोग उपलब्ध करा उनकी आय में वृद्धि करना है।

Dr. S. K. Singh

Dr. S. K. Singh

Dainik Jagran and Amar Ujala's senior journalist, Sub-Editor Basti Khabar, Co-Founder Basti Khabar Pvt. Ltd.


Next Story
Share it