भोजपुरिया नवाब शाहिद शम्स नें भोजपुरी इंडस्ट्री में एक्टिंग की बदौलत पाया मुकाम

 भोजपुरिया नवाब शाहिद शम्स नें भोजपुरी इंडस्ट्री में एक्टिंग की बदौलत पाया मुकाम

नवाब शाहिद शम्स नें भोजपुरी इंडस्ट्री में एक्टिंग की बदौलत पाया मुकाम

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अभिनय, निर्देशन की बदौलत अपनें प्रतिभा का लोहा मनवा चुके है शाहिद शम्स की नें एक अलग ही मुकाम हासिल किया है. उन्हें लोग भोजपुरिया नवाब के नाम से भी जानते हैं.

आर्यन पाण्डेय की रिपोर्ट 


11 मई सन 1974 को बिहार के गोपालगंज जिले मे जन्मे अभिनेता शाहिद शम्स को आज बिहार का बच्चा बच्चा जानता है. ये पहचान उनको न सिर्फ एक अभिनेता के तौर पर मिली हैं बल्कि एक समाजसेवी के तौर भी ये उतने ही सफल हैं जितने वह फिल्मो में एक अभिनेता के तौर पर कामयाब हैं. इनकी प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा बिहार के ही सिवान से हुई है. उन्होंने युनानी मेडिकल कॉलेज से पढ़ाई की है और पढाई पूरी करने के बाद एक्टिंग की तरफ कदम बढाया. उनकी यही चाहत उनको दिल्ली लेकर पहुंची, और यही से इन्होने फिल्मो की दुनिया में अपना कदम बढाया.

Pardesh Bhojpuri Movie

शाहिद शम्स फिल्मो में अभिनय करने के अलावा वीडियो डायरेक्टर की जिम्मेदारी भी निभा चुके है. बतौर वीडियो डायरेक्टर इन्होने टी सीरिज में ढाई सौ से ज्यादा प्रोजेक्ट को सफलता पुर्वक डायरेक्ट पूरा किया है. भोजपुरी फिल्म “पिया के घर प्यारा लगे” से बतौर अभिनेता अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले अभिनेता शाहिद शम्स आज लगभग दर्जन भर से ज्यादा फिल्मे कर चुके हैं.

Bhauji Vidhata Bhojpuri Film

उन्होंने अपनें खुद की प्रोड्क्सन हाउस से एक फिल्म का निर्माण किया था जिसका नाम था “गंगा किनारे प्यार पुकारे” इस फिल्म के निर्माता, निर्देशक और अभिनेता खुद शाहिद शम्स थे. शाहिद ने इस न केवल फिल्म का सफल निर्माण किया बल्कि बेहतरीन निर्देशन और लाजवाब अभिनय भी किया.

READ  भोजपुरी फिल्म 'पारो' के सेट पर दुल्हन के लुक में छाई ऐक्ट्रेस पूनम दूबे
Bhojpuri Film Devar Sala Aankh Mare

ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही और दर्शको का दिल जीतने भी कामयाब रही. इस फिल्म में अभिनेता शाहिद के विपरीत भोजपुरी की चर्चित गायिका देवी और सुप्रिया नजर आई थी. इसके बाद भोजपुरी सिनेमा मे शाहिद एक चर्चित नाम बन गया. फिल्म “हवा में उड़ता जाए लाल दुपट्टा मलमल का” में भी इनके अभिनय को सराहा गया. बतौर निर्माता इनकी तीसरी फिल्म “जिद्दी आशिक” थी. जिसमे पवन सिंह, मनोलिसा, तनुश्री और खुद शाहिद शम्स मुख्य भुमिका में नजर आए थे. यह फिल्म भी सुपरहिट साबित हुई थी.

इनके बाद भोजपुरी की बहुचर्चित फिल्म “प्यार मोहब्बत जिंदाबाद” एक बार फिर पावर स्टार पवन सिंह के विपरीत नजर आये और इस फिल्म के सह-निर्माता भी रहे. इनके अभिनय से सजी फिल्म देवर साला आंख मारे,लागल रह ए राजा जी साल की सफल फिल्मो में शामिल रही. 

अभी हाल ही में इनके प्रोड्क्सन हाउस से बनी बहुचर्चित फिल्म “परदेस” में भी इनके बेहतरीन अभिनय की हर तरफ तारिफ की गई. ये फिल्म यू.पी,बिहार के लोगों के पलायन करने के मुद्दे पर बनाई गई सामाजिक फिल्म हैं. जो लोगों के दिलों को छू गई थी. इस फिल्म में उनके विपरीत अभिनेत्री रुपा सिंह नजर आई थी. इस फिल्म के  कथा व संगीतकार विनय विहारी थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × one =