Top

बिहारः जेडी वीमेंस कॉलेज में छात्राओं के बुर्का पहनने पर पाबंदी, विरोध के बाद बदला फैसला

बिहार की राजधानी पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज ने छात्राओं के लिए एक निर्देश जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि सभी छात्राओं को शनिवार को छोड़कर हर दिन निर्धारित ड्रेस कोड में कॉलेज आना होगा. नियमों का उल्‍लंघन करते हुए पाए जाने पर 250 रुपये जुर्माना देना होगा.

पटनाः बिहार की राजधानी पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज में प्रशासन ने एक नोटिस जारी किया है, जिसके तहत छात्राओं को निर्धारित ड्रेस कोड में कैंपस में आने को कहा गया है. इसके साथ ही कैंपस में बुर्का पहनकर आने पर पाबंदी लगाई गई है.

हालांकि, विरोध के बाद नोटिस से बुर्का शब्द हटा दिया गया है. लेकिन अब भी ड्रेस कोड लागू रहेगा और अगर कोई छात्रा नियमों का उल्‍लंघन करते हुए पाई गई तो उसे 250 रुपये जुर्माना देना होगा.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, इस नोटिस में कहा गया है, ‘छात्राओं को सूचित किया जाता है कि वे शनिवार को छोड़कर कॉलेज द्वारा निर्धारित पोशाक में ही कैंपस में प्रवेश करें. इसके साथ ही कैंपस और क्लासरूम में बुर्के का उपोयग वर्जित है. निर्धारित पोशाक में नहीं पाए जाने पर 250 रुपये का दंड है.’

यह नोटिस 22 जनवरी को जारी किया गया और इस पर कॉलेज के प्रिंसिपल और प्रॉक्टर के हस्ताक्षर हैं.

कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. श्यामा रॉय ने बाद में स्पष्टीकरण देकर कहा कि बुर्का शब्द का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए था.

उन्होंने कहा, ‘चूंकि हमें हमारी खुद की छात्राओं को पहचानने में मुश्किल रही है इसलिए हमें ड्रेस कोड पर लौटना पड़ा.’

जेडी वीमेंस कॉलेज प्रबंधन ने स्पष्ट किया है कि किसी को दुख पहुंचाना मकसद नहीं था, सिर्फ कॉलेज में अनुशासन के लिए ऐसा किया गया था.

प्रबंधन ने कहा कि छात्राओं की नाराजगी और आंदोलन करने की खबर के बीच नोटिस से बुर्का शब्द हटा दिया गया है.

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, कॉलेज की शिक्षिका रेखा मिश्रा ने कहा, ‘हमने कॉलेज में मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर रोक लगाई है. हमने मोबाइल के इस्तेमाल के लिए एक निश्चित जोन बनाया है. कॉलेज कैंपस में बुर्का पहनने पर किसी तरह की रोक नहीं है लेकिन अगर छात्राएं चाहें तो वे क्लासरूम में बुर्का हटा सकती हैं. हमारा उद्देश्य कॉलेज में अनुशासन लाना है.

वहीं, बिहार की राजधानी पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज में लागू बुर्के पर प्रतिबंध को भारी विरोध के बाद वापस ले लिया गया है.

कॉलेज के प्रधानाचार्य श्यामा राय ने कहा कि हमने छात्राओं के ड्रेस कोड को लेकर जारी किए गए आदेश को वापस ले लिया गया है.

Next Story
Share it