Top

Coronavirus Update: गुड़गांव से बस्ती पैदल आ रहे युवक की कानपुर में मौत, रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव

बस्ती| कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू है । ऐसे में प्रवासी मजदूरों ने पलायन करना शुरू कर दिया| समय नाम का एक प्रवासी युवक मजदूर गुड़गांव से पैदल ही उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के लिए निकल पड़ा| कानपुर पहुंचने पर अधिकारियों की नजर उस पर पड़ी| पूछने पर उसने बताया कि वह बस्ती का निवासी है, और लॉकडाउन के दौरान रोजी-रोटी का संकट सताने लगा। तो वह घर के लिए पैदल ही चल पड़ा|

समय ने बताया कि उसके पास पैसे नहीं बचे थे इसलिए वह पैदल ही अपने गांव पहुंचने के लिए निकल पड़ा| लेकिन युवक की रास्ते में तबीयत खराब होती चली गईं। कानपुर पहुंचने पर उसकी थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई जिस दौरान उसे तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ और उल्टी की शिकायत हुई| उसकी ऐसी स्थिति देखकर उसे बुधवार को हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया।
भर्ती समय को न्यूरोसाइंस सेंटर के कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत बिगड़ती चली गई और आखिरकार उसकी मौत हो गई| उसे कोविड-19 वॉर्ड में भर्ती कराया गया था। इसलिए डॉक्टरों ने उसके शव को अस्थाई मोर्चरी में रखवाया और उसकी ब्लड टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार करने लगे|

लगभग 8 घंटे बाद जब रिपोर्ट आई तो कोरोना की पुष्टि हुई| इसकी सूचना तत्काल मुख्य चिकित्सा अधिकारी और प्राचार्य को दी गई| देर रात आई रिपोर्ट के बाद कोविड आईसीयू को सैनिटाइज कराया गया। डॉक्टरों के मुताबिक उसे शुगर, बीपी और सांस की बीमारी थी| उसे खून की उल्टियां भी आ रही थी । जिस पर डॉक्टरों की एक टीम ने उसके इलाज की शुरुआत की, हालांकि दवाई देने के बाद भी उसे रिस्पांस नहीं मिला क्योंकि उसकी इम्युनिटी लेवल बहुत कमजोर थी।

ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर गौरव ने बताया कि समय को जो भी दवाइयां दी जा रही थीं उसका उस पर कोई भी दवा असर नहीं कर रही थी| इसके चलते उसकी मौत हो गई। कोविड प्रोटोकाल के तहत उसका अंतिम संस्कार होगा। इस पूरे मामले पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि इलाज के दौरान बस्ती के रहने वाले प्रवासी कामगार की मौत हो गई। उसके परिजनों का पता लगाया जा रहा है। और कोविड प्रोटोकॉल के तहत आज उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Next Story
Share it