Top

चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा बयान से पलटी

चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा बयान से पलटी
X

अख़बार अमर उजाला में छपी ख़बर के मुताबिक़ पूर्व केंद्रीय गृहराज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के ख़िलाफ़ यौन शोषण का आरोप लगाने वाली क़ानून की छात्रा अपने बयान से पलट गई है.

सरकारी वकील के अनुसार बीते नौ अक्तूबर को कोर्ट में इस मामले की गवाही में छात्रा ने जान-बूझकर अपना बयान बदल दिया है. वकील का कहना है कि छात्रा ने अभियुक्त के साथ समझौता कर लिया है.

सरकारी वकील ने शिकायतकर्ता छात्रा को होस्टाइल क़रार देते हुए उनके ख़िलाफ़ सीआरपीसी की धारा 340 के तहत कार्रवाई करने की अपील की है.

विशेष न्यायाधीश पवन कुमार राय ने अभियोजन पक्ष की इस अर्ज़ी को दर्ज करने के साथ ही इसकी प्रति शिकायतकर्ता व अभियुक्त को देने के आदेश दिए हैं. इसमें कहा गया है कि वह अभियोजन पक्ष की अर्ज़ी पर अपना जवाब दाख़िल करें.

मामले की अगली सुनवाई 15 अक्तूबर को होगी.

क्या है पूरा मामला

27 अगस्त 2019 को छात्रा के पिता ने थाना कोतवाली, शाहजहांपुर में एक रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसमें उन्होंने कहा था कि उनकी पुत्री एसएस कॉलेज से लॉ कर रही है और कॉलेज के हॉस्टल में रहती थी. मगर 23 अगस्त से उसका मोबाइल बंद है.

उन्होंने बताया कि उन्होंने बेटी का फेसबुक वीडियो देखा जिसमें स्वामी चिन्मयानंद व कुछ अन्य लोग उसका व अन्य लड़कियों का शारीरिक शोषण व दुष्कर्म करने के बाद जान से मारने की धमकी दे रहे थे.

पिता का कहना था कि उनकी लड़की को ग़ायब कर दिया गया है.

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद एक विशेष जाँच टीम (एसआईटी) इस मामले की जाँच कर रही थी और पिछले साल सितंबर में चिन्मयानंद को गिरफ़्तार किया था. लेकिन फ़रवरी में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चिन्मयानंद को ज़मानत दे दी थी.

एसआईटी ने लड़की के ख़िलाफ़ जबरन उगाही का मामला दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ़्तार कर लिया था. दिसंबर में लड़की को ज़मानत मिल गई थी. अब लड़की ने अपने बयान को वापस ले लिया है.

Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it