Top

सावधान! पार्ट टाइम जॉब के नाम पर फेक मैसेज भेज भारत के लोगों को टारगेट कर रहे चीनी

वॉट्सऐप पर पार्ट टाइम नौकरी देने के नाम पर चीन का कनेक्शन सामने आया है.
X

वॉट्सऐप पर पार्ट टाइम नौकरी देने के नाम पर चीन का कनेक्शन सामने आया है.

वॉट्सऐप के नए डेटा पॉलिसी को लेकर सवाल उठ रहे हैं और वॉट्सऐप मामले को लेकर सफाई दे रहा है. इस बीच दिल्ली स्थित साइबरपीस फाउंडेशन ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि चीन के हैकर्स पार्ट टाइम नौकरी का लालच देकर भारतीय वॉट्सऐप यूजर्स को टारगेट कर रहे हैं. आ रहे वॉट्सऐप मेसेज में कहा जा रहा है कि मोबाइल पर दिन के 10-30 मिनट देकर आप हर दिन 200-300 रुपये कमा सकते हैं. नए यूजर को जॉइन करने पर अतिरिक्त 50 रुपये मिलेंगे. जल्द से जल्द जॉइन कीजिए.

रिपोर्ट में बताया गया है कि सभी यूजर को मेसेज में अलग-अलग नंबर से अलग-अलग लिंक भेजे जाते हैं लेकिन उनका यूआरएल एक ही होता है.

इन सभी यूआरएल के आईपी एड्रेस चीन की होस्टिंग कंपनी अलीबाबा क्लाउड से जुड़े हुए मिले हैं. और पता मिला हॉन्ग कॉन्ग, चीन का. जब भी यूआरएल के साथ हेरफेर की गई तो चीनी भाषा में एरर कोड जेनरेट हो रहा था. डोमेन जांच करने पर पता चला है कि यह चीन में रजिस्टर्ड है.

जांच करने पर पता चला है कि इन मेसेज को चीन से जनरेट किया जा रहा है. (तस्वीर: साइबरस्पेस डॉट ओआरजी)

जांच करने पर पता चला है कि इन मेसेज को चीन से जनरेट किया जा रहा है. (तस्वीर: साइबरस्पेस डॉट ओआरजी)

भारत के यूजर्स को चीन की वेबसाइट्स पर भेजकर, उनका रजिस्ट्रेशन करवाकर ये कंपनी उनका डेटा इकट्ठा कर रही हैं. इस डेटा का ये कंपनी कैसे इस्तेमाल कर रही है, इस पर इस रिपोर्ट में कुछ लिखा नहीं गया है. लेकिन फर्जी लिंक के जरिए डेटा इकट्ठा करना अच्छे संकेत तो नहीं ही हैं.

अगर ऐसे मेसेज आपको वॉट्सऐप पर या कहीं भी मिलते हैं तो उसे तुरंत रिपोर्ट करें. आपको किसी भी अनाम नंबर से आपको कोई मेसेज आए तो उसे ध्यान से चेक करें. उसमें कोई लिंक आए तो क्लिक करने से पहले 100 बार सोचें और जांच के बाद ही उसे खोलें. कई लिंक्स पर क्लिक करते ही यूजर्स का सारा डेटा, बैंक अकाउंट डिटेल्स चुरा ली जाती हैं. इसलिए सतर्क रहें.

वॉट्सऐप का क्या मसला चल रहा है?

हाल ही में वॉट्सऐप यूजर्स को एक मेसेज मिला जिसमें नई प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट करने को कहा गया. नई प्राइवेसी पॉलिसी में क्या है? इसमें लिखा है कि वॉट्सऐप आपका डेटा फेसबुक से शेयर करेगा. अभी अगर आप इस नई पॉलिसी को स्वीकार नहीं करते तो भी वॉट्सऐप चलेगा. लेकिन अगर आप वॉट्सऐप चलाना जारी रखना चाहते हैं तो 8 फरवरी से पहले-पहले आपको इसे स्वीकार करना होगा. नहीं तो आपका वॉट्सऐप अकाउंट बंद हो जाएगा. इस खबर के बाद पूरे भारत में वॉट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर चर्चा हो रही है. वॉट्सऐप की इस पॉलिसी पर सवाल उठ रहे हैं और वॉट्सऐप इस पर सफाई देने में लगा हुआ है.

हाल में कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया था कि प्राइवेट वॉट्सऐप ग्रुप के लिंक्स इंटरनेट पर उपलब्ध हैं और 5000 से अधिक प्रोफाइल अभी सार्वजनिक हैं. लोगों ने इस मामले पर भी वॉट्सऐप को आड़े हाथों लिया था.

[ बस्ती ख़बर की विशेष संक्षिप्त खबरों के लिए Twitter पर जुड़ें, और फॉलो करें। ]

Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it