30.7 C
Uttar Pradesh
Monday, August 15, 2022

यूपी के सभी CHC और PHC में हेल्थ एटीएम लगाने की कवायद शुरू, 59 तरह की जांचें होंगी फ्री

भारत

डॉ. एसके सिंह
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.
Yogi Adityanath

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में हर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व सामुदायिक स्वाथ्य केंद्र हेल्‍थ एटीएम की सुविधा से लैस होगा। लोग इन मशीनों के जरिये खुद अपने स्‍वास्‍थ्‍य की जांच कर सकेंगे। ब्‍लड प्रेशर, पल्‍स रेट, टेंप्रेचर और आक्‍सीजन के साथ शरीर से जुड़ी तमाम चीजों की जांच मुफ्त में हो सकेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम 9 की बैठक में सभी सीएचसी और पीएचसी पर हेल्थ एटीएम की सुविधा देने के निर्देश दिए हैं।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग के आलाधिकारियों को राज्य के सभी सीएचसी और पीएचसी केंद्रों पर हेल्थ एटीएम स्थापित करने के निर्देश दिए है। इन हेल्थ एटीएम के सहारे लोगों को स्वास्थ्य सम्बंधी 59 समस्याओं की जांच कराने में सुविधा मिलेगी।

सीएचसी और पीएचसी केंद्रों पर लगेंगे हेल्थ एटीएम

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम 9 के साथ बैठक की। इस दौरान राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की बेहतरी को लेकर खास निर्देश जारी किए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों बेहतर इलाज मुहैया कराने को लेकर निर्देश जारी किया। साथ ही कहा कि यूपी के ग्रामीण इलाकों के साथ शहरी क्षेत्रों में बने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जल्द से जल्द हेल्थ एटीएम की स्थापना की जाए।

हेल्थ एटीएम के जरिए निःशुल्क होगी 59 तरह की जांच

हेल्थ एटीएम के स्थापित होने के बाद लोगों को अलग-अलग तरह की जांच कराने के लिए शुल्क देकर विभिन्न स्थानों पर भटकना नहीं पड़ेगा। हेल्थ एटीएम में आधुनिक तकनीक वाली मशीनों के जरिए लोग निःशुल्क बॉडी मास इंडेक्स, ब्लड प्रेशर, मेटाबॉलिक ऐज, बॉडी फैट, हाईड्रेशन, पल्स रेट, हाइट, मसल मास, शरीर का तापमान, शरीर में ऑक्सिजन की मात्रा, वजन सहित कुल 59 पैरामीटर की जांच करा सकेंगे। बॉडी स्क्रीनिंग के लिए कुल 16 तरह की जांच तत्काल हो सकेंगी। इतना ही नहीं, हेल्थ एटीएम के माध्यम से रैपिड टेस्ट, यूरिन टेस्‍ट, गर्भावस्था, डेंगू, मलेरिया, टाइफाइड, एचआईवी, ग्लूकोज, हीमोग्लोबिन, लिपिड प्रोफाइल आदि जैसी जांचें भी बड़ी ही सरलता से लोगों को उपलब्ध हो पाएंगी।

जल्द से जल्द कार्य योजना तैयार करने के निर्देश

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हेल्थ एटीएम मशीनों को एटीएम की तर्ज पर सार्वजनिक स्थानों पर भी लगाया जाएगा। इन हेल्थ एटीएम मशीनों के संचालन और देख-रेख के लिए टेक्नीशियनों का चयन कर उन्हें संचालन के तरीकों को समझने के लिए अलग से प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए गए हैं। सीएम योगी ने कहा कि टेक्नीशियनों की तैनाती के साथ लोगों के आगे रोजगार से जुड़े कई अवसर भी खुलेंगे। मुख्यमंत्री ने इसके लिए तेजी दिखाते हुए जल्द से जल्द कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

टेली कंसल्टेशन से जोड़ा जाएगा ‘हेल्थ एटीएम’

लोगों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए हेल्थ एटीएम को टेली कंसल्टेशन और डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड से भी जोड़ा जाएगा। इसके सहारे जांच कराने वालों को चिकित्सकों से स्वास्थ्य संबंधी सलाह भी मिल सकेगी। अलग-अलग विभाग से जुड़े चयनित चिकित्सक डेली कंसल्टेंसी के लिए हेल्थ एटीएम से जुड़े रहेंगे।

औद्योगिक समूहों से संपर्क करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएचसी, पीएचसी स्तर पर ‘हेल्थ एटीएम’ उपलब्ध कराने की विभिन्न औद्योगिक समूहों ने इच्छा जताई है। ऐसे सभी लोगों से संपर्क कर सहयोग प्राप्त किया जाए। हेल्‍थ एटीएम मशीनों को एटीएम की तर्ज पर सार्वजनिक स्‍थानों पर लगाया जाएगा। हेल्‍थ एटीएम की देखरेख और बेहतर संचालन के लिए तकनीशियनों की तैनाती की जाएगी। प्रशिक्षण के बाद तकनीशियनों को तैनात किया जाएगा। राज्‍य सरकार इस योजना के जरिये जहां एक तरफ बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य पर काम कर रही हैं वहीं दूसरी ओर तकनीशियनों की तैनाती से रोजगार की एक नई राह भी खोलने जा रही है।  वरिष्ठ नागरिकों की स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के लिए विशेष हेल्पलाइन नंबर 14567 जारी किया गया है। इसे उपयोगी बनाने के प्रयास किए जाएं। विशेष परिस्थितियों में उन्हें एंबुलेंस चाहिए या दवा की जरूरत, सब कुछ मुहैया कराया जाए। कैंसर की समस्या से ग्रस्त या डायलिसिस के मरीजों के इलाज में कतई देरी न हो। आशा वर्कर से इनकी सूची तैयार कर, इनसे बातचीत किया जाए। इसके साथ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अगले 8-10 माह के लिए अपनी कार्ययोजना तैयार करे।

Advertisement
- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें