Top

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कस के घेर लिया है

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा और उनका परिवार कथित तौर पर टैक्स चोरी करने और लाखों रुपए के नकद भुगतान के मामले में घिरते दिख रहे हैं. अशोक लवासा पर आरोप है कि नोटबंदी के बाद 4.93 लाख रुपए नकद जमा किया. गुड़गांव में एक इमारत के निर्माण के लिए 46.65 लाख रुपए नकद दिए. साथ ही घरेलू नौकर के बैंक खाते से किसी बिल्डर को 9.57 लाख रुपए का भुगतान किया.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बीते 6 महीने में अशोक लवासा की पत्नी नोवेल सिंघल लवासा (पूर्व बैंकर), उनकी बहन शकुंतला लवासा और बेटे अबीर लवासा को लगातार नोटिस भेजा है.

# क्या है रिपोर्ट में?

इनकम टैक्स की एक रिपोर्ट में अशोक लवासा पर कई आरोप लगाए गए हैं. Indian Express में छपी एक ख़बर के मुताबिक़, अशोक लवासा पर इनकम टैक्स की अंतिम रिपोर्ट Department of Revenue से नवंबर, 2019 में साझा की गई. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि अशोक लवासा के एक मकान और एक फ़ार्म हाउस की जांच की गई है. मकान अशोक लवासा और उनकी पत्नी, बहन और बेटे के नाम है. फ़ार्म हाउस अशोक लवासा और उनकी पत्नी के नाम पर बताया गया है.

गुड़गांव की चारमंजिला इमारत को बनाने वाली कंपनी के मालिक सत्यप्रिय त्यागी के घर और दफ़्तर पर इनकम टैक्स ने छापा मारा. ये छापा 22 अगस्त, 2019 को मारा गया था. रिपोर्ट में बताया गया है कि सत्यप्रिय के दफ़्तर से कई डायरियां और ईमेल ज़ब्त किए गए. इन कागज़ों के आधार पर रिपोर्ट में ये कहा गया कि लवासा के परिवार ने कथित तौर पर मकान बनाने के लिए 46 लाख रुपए का नकद भुगतान किया.

हालांकि अशोक लवासा की पत्नी ने I-T डिपार्टमेंट की जांच में इस बात से इनकार किया कि उन्होंने इस तरह का कैश पेमेंट किया. लवासा की पत्नी ने कहा कि मकान के लिए ठेकेदार को 2.5 करोड़ का पेमेंट किया गया, लेकिन बैंकिंग सिस्टम से. इनमें से किसी भी राशि का नकद भुगतान नहीं किया गया.

I-T डिपार्टमेंट ने एक ईमेल का ज़िक्र किया, जिसमें ठेकेदार को नकद पेमेंट किए जाने का ज़िक्र था. डिपार्टमेंट का कहना है कि जिस ईमेल में नकद लेन-देन का ज़िक्र किया गया, वो लवासा की पत्नी के जीमेल अकाउंट में भी मिला है.

# और भी सबूत बताए गए

इनकम टैक्स ने लवासा परिवार के ख़िलाफ़ इस जांच में कई तरह के सबूत दिए हैं. अशोक लवासा की पत्नी नोवेल सिंघल लवासा की एक गूगल ड्राइव का भी रिपोर्ट में ज़िक्र है. इस ड्राइव में एक तस्वीर मिली है. तस्वीर उस काग़ज़ की है, जिस पर कैश लेन-देन का हाथ से लिखा हिसाब रखा गया है. ये हिसाब लवासा के गुड़गांव स्थित चारमंजिला मकान के निर्माण का बताया जा रहा है.

Next Story
Share it