30 C
Uttar Pradesh
Saturday, September 18, 2021

पूर्व आईएएस एके शर्मा यूपी के भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष बने

भारत

e14612343fcbf6d3201345a840e96510?s=120&d=mm&r=g
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

एके शर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी माने जाते हैं. शर्मा गुजरात कैडर के अधिकारी रहे हैं. हाल ही में उन्होंने बीजेपी का दामन थामा है.

एके शर्मा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश के साथ / फाइल फोटो
एके शर्मा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश के साथ / फाइल फोटो

लखनऊ। कुछ दिन पहले बीजेपी में शामिल हुए पूर्व आईएस अधिकारी एके शर्मा को उत्तर प्रदेश का उपाध्यक्ष बनाया गया है. एके शर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी माने जाते हैं. आपको बता दें कि एके शर्मा गुजरात कैडर के अधिकारी रहे हैं. कुछ दिनों पहले ही उन्होंने बीजेपी का दामन थामा है.

बीजेपी आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है. इसी के तहत पार्टी ने आज एमएलसी एके शर्मा को यूपी के उपाध्यक्ष पद पर नियुक्त किया है. उनके अलावा अर्चना मिश्रा को और अमित वाल्मिकी को प्रदेश मंत्री बनाया गया है.

कौन हैं एके शर्मा ?

गुजरात कैडर के IAS अधिकारी रहे एके शर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफी करीबी माने जाते हैं. वो पीएम मोदी के साथ 2001 में तब से हैं जब उन्होंने गुजरात के सीएम पद की शपथ ली थी. वो गुजरात में सीएम कार्यालय के सचिव के बाद सीएम के अतिरिक्त प्रमुख सचिव भी रहे हैं. शर्मा ने गुजरात में होने वाले निवेशकों के सम्मेलन वाइब्रेंट गुजरात के आयोजन का दायित्व भी संभाला था. 

साल 2014 में गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी जब पीएम बन कर दिल्ली आए तो शर्मा भी पीएम कार्यालय में संयुक्त सचिव के रूप में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली आए. स्वैछिक सेवानिवृत्ति लेते वक्त वो MSME मंत्रालय में सचिव पद पर कार्यरत थे.

उत्तर प्रदेश के मऊ से हैं शर्मा

एके शर्मा मूलरूप से उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद के काझाखुर्द गांव के रहने वाले हैं. 58 वर्षीय शर्मा की प्रारंभिक शिक्षा गांव से ही हुई उसके बाद 12वीं तक कि पढ़ाई उन्होंने डीएवी इंटर कॉलेज से की. स्नातक व राजनीति शास्त्र में परास्नातक इलाहाबाद विश्वविद्यालय से किया और उसके बाद उनका चयन 1988 में भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए हो गया, जहां पर उनको गुजरात कैडर दिया गया.

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें