Top

UP के सोनभद्र में 500 हाथियों के वज़न के बराबर सोना मिला है

5400 किलो. ये होता है एक औसत एशियाई हाथी का वज़न. यानी करीब छह टन. ये खबर हाथी के बारे में नहीं है. फिर हमने हाथी का वज़न क्यों बताया? क्योंकि यूपी के सोनभद्र ज़िले में तीन हज़ार टन सोना मिला है. यानी 500 हाथियों के वज़न के बराबर सोना. तीन हज़ार टन सोना कितना ज्यादा होता है, ये हाथी के वज़न से तुलना करके हमें ज्यादा बेहतर समझ में आया. सोचा आपको भी ऐसे ही बताएं.

सोने के इस बड़े भंडार के साथ क्या होगा? इसकी नीलामी की जाएगी. जैसे नीलामी के जरिये कोल ब्लॉक्स का आवंटन होता है माइनिंग कंपनियों को, वैसे ही. नीलामी की प्रक्रिया के लिए यूपी सरकार ने सात सदस्यों की एक टीम भी बना दी है.

# यहां सोना है, पता कैसे चला?

2005 में जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) ने यहां रिसर्च की थी. बताया था कि सोनभद्र में सोना है. फिर 2012 में इस बात की पुष्टि हुई कि सोनभद्र की पहाड़ियों में सोना मौजूद है. अब आठ साल बाद सरकार हरकत में आई है और सोने के ब्लॉक के आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

# सोना कहां मिला?

सोनभद्र के हरदी गांव और महुली गांव के सोन पहाड़ी में सोने के भंडार मिले हैं. हरदी गांव में 646.15 किलोग्राम सोने का भंडार पाया गया है. वहीं, महुली गांव की सोन पहाड़ी में 2943.25 टन सोना मिला है. सात सदस्यीय टीम पूरे क्षेत्र की जिओ टैगिंग करेगी और 22 फरवरी, 2020 तक अपनी रिपोर्ट भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय, लखनऊ को सौंपेगी.

# अधिकारी क्या कह रहे हैं?

खनिज अधिकारी केके राय ने बताया कि भूतत्व और खनिकर्म विभाग और जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम इस काम में लगी हुई है. जल्द ही पट्टा देने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. अभी हेलीकॉप्टर के माध्यम से हवाई सर्वे किया जा रहा है और देखा जा रहा है कि कितनी राजस्व की भूमि है और कितनी वन विभाग की है, जिससे खनन के लिए वन विभाग से अनुमति की प्रक्रिया शुरू हो सके.

Next Story
Share it