Top

मास्क को लेकर पगलाए हुए हैं तो सरकार की ये बात कान खोलकर सुन लीजिए

कोरोना वायरस के चलते मास्क काफी डिमांड में हैं. लेकिन सरकार ने साफ कर दिया है कि सभी लोगों को मास्क पहनना जरूरी नहीं है. 31 मार्च को स्वास्थ्य विभाग के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मास्क के बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने स्पष्ट कुछ नहीं कहा है. उन्होंने कहा-

सब लोगों को मास्क पहनने की जरूरत नहीं है. मास्क कब और किसको पहनना चाहिए इसके बारे में हम दिशा निर्देश जारी कर चुके हैं. अगर आपको खांसी, जुकाम है तो आपको मास्क जरूर पहनना चाहिए. इसके अलावा मास्क पहनने की जरूरत नहीं है. कृपया डर न फैलाएं और बिना जरूरत के मास्क पहनने से बचें. मैं कई बार इस बारे में कह चुका हूं. आप (मीडिया) लोग भी मास्क पहनकर आ रहे हैं. हमें समझना होगा कि जब जरूरत हो तभी पहनें. वैसे भी इसकी काफी कमी है.

चेहरे को न छुएं, मास्क को दूर रखें

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर के प्रमुक रमन गंगाखेड़कर ने अग्रवाल का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि जब संक्रमण का खतरा हो तब मास्क पहनने की जरूरत है. मास्क इसलिए पहनते हैं ताकि बार-बार मुंह, नाक और आंखों को हाथ नहीं लगाए. जरूरत है कि मुंह और नाक को बार-बार टच न करें. फिर डरने की बात नहीं है.

उनसे पूछा गया कि अमेरिका में मास्क पहनने की सिफारिश की जा रही है. इस पर गंगाखेड़कर ने कहा कि अमेरिका और भारत के हालात अलग हैं. भारत में अमेरिका की तुलना में एक्सपोज़र कम है. इसलिए मास्क के लिए बेवजह चिंता न करें.

सरकारी अफसरों से होममेड यानी घरों पर बनाए जा रहे मास्क के बारे में भी पूछा गया. इस बारे में लव अग्रवाल ने कहा कि होममेड मास्क के उपयोग को लेकर जांच कर रहे हैं. इसकी तकनीक को जांचा-परखा जा रहा है. जल्दी ही इस बारे में बताया जाएगा.

बता दें कि मास्क की बाजार में कमी के चले घरेलू मास्क भी इस्तेमाल किए जा रहे हैं.

Next Story
Share it