30 C
Uttar Pradesh
Saturday, September 18, 2021

लखनऊ विकास प्राधिकरण के 100 करोड़ की जमीन से अवैध कब्जा हटाया गया

भारत

e14612343fcbf6d3201345a840e96510?s=120&d=mm&r=g
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.
लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा हटवाया जा रहा अवैध कब्जा
लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा हटवाया जा रहा अवैध कब्जा
  • लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश के आदेश पर बड़ी कार्रवाई।
  • ऐशबाग के भदेवां में प्राधिकरण ने खाली करवाई नजूल की 12 बीघा जमीन।

लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश द्वारा अवैध कब्जेदारों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई का दौर लगातार जारी है। इसके क्रम में दिनांक 24 जुलाई 2021 को लखनऊ विकास प्राधिकरण ने ऐशबाग के भदेवां में स्थित नजूल की 12 बीघा जमीन पर जेसीबी चलवाकर अवैध कब्जा हटाया। खाली कराई गई उक्त जमीन की कीमत तकरीबन 100 करोड़ रुपये है।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के सचिव पवन कुमार गंगवार ने बताया कि ऐशबाग के भदेवां में स्थित खसरा संख्या 209, 210, 211, 212, 213, 214, 218 व 219 जिसका क्षेत्रफल 3.050 हेक्टेयर पर विगत कई वर्षों से अवैध कब्जा था। इस पर नजूल अधिकारी आनंद कुमार सिंह को कार्रवाई के आदेश दिए गए थे। नजूल अधिकारी आनंद कुमार सिंह ने बताया कि उक्त जमीन का स्थलीय निरीक्षण करने पर पाया गया कि यहां करीब डेढ़ दर्जन लोग अवैध रूप से झुग्गी-झोपड़ी डालकर कबाड़ का काम कर रहे हैं।

जांच में सामने आया कि रईस अहमद नाम के व्यक्ति ने इन कबाड़ व्यापारियों को यहां अवैध रूप से बसाया है। पूछताछ में यह भी पता चला कि रईस अहमद द्वारा इन कब्जेदारों से अवैध रूप से किराया भी वसूला जा रहा है। नजूल अधिकारी आनंद कुमार सिंह ने बताया कि लखनऊ विकास प्राधिकरण की इस नजूल भूमि पर अवैध तरीके से काबिज कबाड़ व्यापारियों को जमीन खाली करने की हिदायत देते हुए कई बार चेताया भी गया,लेकिन इसके बाद भी इन लोगों द्वारा अतिक्रमण नहीं हटाया गया।

इस पर शनिवार को लखनऊ विकास प्राधिकरण और पुलिस की संयुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए उक्त जमीन से अवैध कब्जा हटवाया। उन्होंने बताया कि अब इस सम्बंध में लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा रईस अहमद समेत अन्य कब्जेदारों के खिलाफ स्थानीय थाने में मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें