हर ओर कोरोना के खौफ के बीच शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारी किस हाल में हैं?

 हर ओर कोरोना के खौफ के बीच शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारी किस हाल में हैं?

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर दिल्ली के शाहीन बाग़ में विरोध प्रदर्शन जारी है. तीन महीने से ज्यादा वक्त से लोग धरने पर बैठे हुए हैं. कोरोना वायरस को देखते हुए दिल्ली सरकार ने कहा था कि 31 मार्च तक 50 से ज्यादा लोगों की भीड़ को कहीं भी जमा नहीं होने दिया जाएगा. लेकिन शाहीन बाग़ में लोग अब भी जमा हो रहे हैं.

धरने वाली जगह पर अब करीब हर दो मीटर की दूरी पर लकड़ी की 100 चौकियां लगा दी गई हैं. एक चौकी पर सिर्फ दो लोगों को बैठने के लिए कहा गया है. आयोजकों ने बच्चों को धरने वाली जगह से दूर रहने के निर्देश दिए हैं. लोग मास्क लगाकर धरने पर बैठे हुए हैं.

प्रदर्शनकारी क्या कह रहे हैं?

17 मार्च को रेसिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों और दिल्ली पुलिस के बीच बातचीत हुई. दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस को देखते हुए विरोध-प्रदर्शन बंद करने की गुजारिश की थी, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की बात नहीं मानी. महिला प्रदर्शनकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस से ज्यादा बड़ा खतरा CAA है.

न्यूज़ एजेंसी ANI और IANS के ट्वीट देखिए.

READ  दिल्ली पुलिस ने कहा- शाहीन बाग में गोली चलाने वाला आप का सदस्य, परिवार ने नकारा