37.7 C
Uttar Pradesh
Tuesday, July 5, 2022

भारतवर्ष ही योग का आदि स्थान है, जिसने दुनिया को मुक्ति का दिखाया मार्ग: ओम प्रकाश आर्य

भारत

डॉ. एसके सिंह
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

बस्ती। “भारतवर्ष ही योग का आदि स्थान है यहाँ से ही योग का प्रकाश लेकर हमारे पूर्वजों ने पूरी दुनिया को मुक्ति का मार्ग दिखाया है। अब ऐसा समय आ गया है जब हमें अपनी पुरातन संस्कृति योग-यज्ञ और आयुर्वेद की ओर पुन: लौटना होगा तभी हम स्वस्थ और निरोगी काया के स्वामी हो सकेंगे,” यह जानकारी देते हुए ओम प्रकाश आर्य जिला प्रभारी भारत स्वाभिमान समिति बस्ती ने बताया की जिले के प्रमुख धार्मिक और एतिहासिक स्थलों पर भारत स्वाभिमान और पतंजलि योग समिति के शिक्षक शिक्षिकाएँ योग प्रोटोकाल का अभ्यास करायेंगे।

ज्ञात हो कि, 21 जून विश्व योग दिवस के लिए लगभग सभी संगठनो और संस्थाओं ने अपने अपने स्तर पर योग प्रोटोकाल के बेहतर प्रदर्शन के लिए तैयारी शुरु कर दी है।

इसी कड़ी के आज शिवहर्ष किसान पीजी कालेज में योगाभ्यास कराते हुए योग शिक्षक प्रशिक्षक गरुण ध्वज पाण्डेय ने बताया कि, योग प्रोटोकाल का नियमित अभ्यास हमें नवजीवन दे सकता है।

समन्वयक डा. शिवेन्द्र मोहन पान्डेय ने कहा कि योग हमें दुखों से छुड़ाता है और शान्ति प्रदान करता है इसलिए सबके लिए एक अनिवार्य जीवन शैली है।

कार्यक्रम में राष्ट्र रक्षक दल बस्ती के बालक बालिकाओं ने हिस्सा लिया। सुभाष चन्द्र आर्य जिला प्रभारी पतंजलि योग समिति बस्ती ने सावित्री विद्या विहार में योगाभ्यास कराते हुए तडासन, वृक्षासन, त्रिकोणसन, अर्ध चंद्रासन, मन्डूकासन कराते हुए कपालभाती, अनुलोम विलोम, शीतली व भ्रामरी प्राणायाम कराते हुए ध्यान कराया।

इस अवसर पर आचार्य जगदीश मिश्र ने योग विद्यार्थियो के लिए अमृत तुल्य बताया। कार्यक्रम में रंजीत चौधरी, पंकज त्रिपाठी, संदीप भट्ट, सुरेन्द्र शर्मा, प्रवीण त्रिपाठी, जगत शर्मा आदि योग शिक्षक सम्मिलित रहे।

Advertisement
- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें