Top

क्या NRC पर सरकार का स्टैंड अब बदल रहा है? रक्षामंत्री के ताजा बयान से तो ऐसा ही लगता है

दिसंबर, 2019 में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि देश में NRC (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस) लाने पर उनकी सरकार में कोई चर्चा नहीं हुई है. अब केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का बयान सामने आया है. राजनाथ ने सवाल किया है कि NRC को लेकर इतना ज्यादा विरोध क्यों हो रहा है? क्या सरकार को ये जानने का अधिकार नहीं है कि भारत में रहने वाले कितने लोग इस देश के नागरिक हैं और कितने विदेशी हैं?

राजनाथ सिंह ने ये बात 27 जनवरी को मंगलौर की एक रैली में कही. उन्होंने कहा,

‘NRC को लेकर मैं ये पूछना चाहता हूं कि किसी देश को ये नहीं पता होना चाहिए कि यहां रहने वाले कितने लोग नागरिक हैं और कितने विदेशी? मैं पूछना चाहता हूं कि क्या देश को ये जानने का अधिकार नहीं है कि कितने लोग यहां के नागरिक हैं.’

उनके इस सवाल पर जनता की तरफ से ‘हां’ में जवाब आया, तब राजनाथ ने पूछा,

‘फिर NRC बन रहा है, तो इसमें क्या दिक्कत है?’

खैर, आगे NRC के मुद्दे को विपक्षी पार्टियों की देन बताते हुए राजनाथ ने कहा,

‘NRC नाम की चिड़िया हम लोग लेकर नहीं आए थे. NRC नाम की चिड़िया सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसके पहले कांग्रेस लेकर आई थी, लेकिन अब NRC को लेकर सारे आरोप हम पर लगाए जा रहे हैं.’

इसी रैली में राजनाथ सिंह ने CAA (नागरिकता संशोधन कानून) पर भी बात की. कहा कि न तो CAA और न ही NRC भारतीय मुस्लिमों के खिलाफ है. आगे कहा,

‘पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान सेक्युलर देश नहीं हैं. वहां इस्लाम धर्म माना जाता है. भारत हिंदू धर्म वाला देश नहीं है, भारत सेक्युलर है. इसलिए पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में जो लोग इस्लाम को नहीं मानते, उन्हें सताया नहीं जा सकता. बाकी धर्म के लोगों के लिए CAA लाया गया है.’

राजनाथ ने कहा कि पिछली सरकार में वो गृहमंत्री थे, तब उन्होंने पाकिस्तानी मूल के सिंगर अदनान सामी को भारत की नागरिकता दी. इसके अलावा पिछले छह साल में 600 मुस्लिमों को भारतीय नागरिक का दर्जा दिया जा चुका है.

क्या कहा था पीएम मोदी ने?

पीएम मोदी ने पिछले महीने दिल्ली के रामलीला मैदान में एक रैली को संबोधित किया था, जहां उन्होंने कहा था,

‘पहले ये तो देख लीजिए, NRC पर कुछ हुआ भी है या नहीं? झूठ चलाया जा रहा है. मेरी सरकार आने के बाद, साल 2014 से आज तक मैं ये सच 130 करोड़ लोगों के लिए कहना चाहता हूं कि कहीं पर भी NRC शब्द पर कोई चर्चा नहीं हुई है. कोई बात नहीं हुई है.’

खैर, पीएम मोदी और रक्षामंत्री, दोनों के बयान आप जान गए हैं. अब आप ही अंदाजा लगाइए कि सरकार NRC पर क्या बोलना चाहती है और क्या करना चाहती है.

Next Story
Share it