Top

कर्नाटकः पाकिस्तान समर्थित नारे लगाने के आरोप में तीन कश्मीरी छात्र गिरफ़्तार

एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे कश्मीर के तीन छात्रों पर पुलिस ने राजद्रोह और सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

नई दिल्लीः कर्नाटक के निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे कश्मीर के तीन छात्रों को पाकिस्तान समर्थित नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने इन पर राजद्रोह और सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, हुबली जिले के केएलई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ने वाले तीन छात्रों ने कथित तौर पर पाक समर्थित नारे लगाते हुए सोशल मीडिया पर उसका वीडियो पोस्ट किया था.

पुलिस ने केएलई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के सिविल इंजीनियरिंग कोर्स के फर्स्ट सेमेस्टर के तीन छात्रों आमीर, बासित और तालिब को गिरफ्तार किया है.

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 जवानों की याद में 14 फरवरी को कॉलेज में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस दौरान ये तीनों छात्र कथित तौर पर अपने हॉस्टल में ही थे और इन्होंने वॉट्सएप पर एक वीडियो अपलोड किया, जिसमें ये छात्र आजादी और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं.

कॉलेज के प्रिंसिपल बसावराज अनामी को शनिवार को इस वीडियो के बारे में पता चला, जिसके बाद उन्होंने छात्रों को अपने चैंबर में बुलाया.

इस दौरान बजरंग दल की स्थानीय इकाई के कुछ सदस्य भी प्रिंसिपल के चैंबर मे गए और छात्रों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करने लगे.

प्रिंसिपल ने स्थिति नियंत्रण से बाहर होने पर पुलिस को इसके बारे में सूचना दी. कॉलेज प्रशासन की शिकायत पर इन छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया.

हुबली-धारवाड़ पुलिस के कमिश्नर आर दिलीप ने कहा, ‘हमें सूचना मिली की कश्मीर के तीन छात्र केएलई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ रहे हैं, जिन्होंने पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए. इन्होंने एक वीडियो भी बनाया, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इसके तुरंत बाद हमारी टीम मौके पर पहुंची और छात्रों को गिरफ्तार किया.’

पुलिस छात्रों को सुरक्षित रूप से पुलिस थाने ले जाना चाहती थी लेकिन बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सवाल उठाए कि छात्रों को सुरक्षा क्यों दी जा रही है. बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और एक आरोपी छात्र के साथ हाथापाई भी की.

प्रिंसिपल अनामी ने कहा, ‘कश्मीरी छात्रों को सरकारी कोटा के तहत कॉलेज में दाखिला मिला था. वीडियो देखने के बाद कॉलेज ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. आरोपी छात्रों को पहले ही कॉलेज से सस्पेंड कर दिया गया है. इन्हें आगे की कार्रवाई के लिए पुलिस को सौंप दिया गया है.’

हुबली पुलिस कमिश्नर ने पुष्टि करते हुए कहा कि राजद्रोह और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

उन्होंने कहा, हम जांच कर रहे हैं और सबूतों, कानून और तथ्यों के आधार पर जो भी होगा हम कार्रवाई करेंगे. हम इन छात्रों की पृष्ठभूमि की भी जांच कर रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने आरोपी छात्रों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.

राज्य के बड़े एवं मझोले उद्योग मंत्री जगदीश सेत्तार ने शनिवार को धारवाड़ में कहा था कि सरकार किसी भी तरह की देशद्रोही गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं करेगी. उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं देश के विकास के लिए सही नहीं है.

Next Story
Share it