Top

Latest Basti News: एसडीएम सदर अस्थाई जेल के अधीक्षक बनाए गए, पूरी सुविधाओं से लैस हुआ अस्थाई जेल

जनपद में बनी अस्थाई जेल जहाँ, नए बन्दी रहेंगे क्वारन्टीन

महर्षि विद्या मन्दिर को बनाया अस्थाई जेल

जिला जेल में सोशल डिस्टेंस कायम करने हेतु खोजा गया तरीका।

बस्ती जेल में सन्तकबीरनगर के भी बन्दी रखे जाते हैं।

बस्ती। न्यायालय से भेजे नए विचाराधीन बंदियों को बुधवार से अस्थाई जेल में रखा जाएगा। जहां वे 14 दिन तक क्वारंटीन रहेगें। वहीं पर उनका कोरोना का परीक्षण भी कराया जाएगा। निगेटिव पाए जाने पर ही मुख्य जेल में भेजा जाएगा। पॉजिटिव पाए जाने की दशा में उक्त बन्दी को इलाज के लिए अस्पताल भेजा जाएगा।

देर रात जारी आदेश में जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने बताया कि उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश पर महर्षि विद्या मंदिर को अस्थाई जेल बनाया गया है। इसकेे जेल अधीक्षक एसडीएम सदर श्रीप्रकाश शुक्ला तथा जेलर सतीश चंद त्रिपाठी नियुक्त किए गए हैं।

मुख्य प्रवेश द्वार पर स्टाफ तैनात होंगे, जो अंदर जाने वाले सभी व्यक्तियों का सघन चेकिंग करेंगे। साथ ही सभी प्रकार की सूचनाएं रजिस्टर में दर्ज करेंगे। कोरोना वायरस के स्क्रीनिंग की कार्यवाही भी प्रवेश द्वार पर ही की जाएगी। आवश्यकता होने पर चेकिंग के समय डीएफएमडी (डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर) लगाकर चेकिंग कराई जाएगी।

उन्होंने बताया कि अस्थाई जेल में मुख्य चिकित्साधिकारी टीम गठित कर शिफ्टवार ड्यूटी लगाएंगे। यहां पर एक एंबुलेंस 24 घंटे उपलब्ध रहेगी। यदि किसी विचाराधीन कैदी को आकस्मिक समस्या होती है, तो जेलर की संस्तुति पर उसे जिला अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया जाएगा। अंदर जेल मैनुअल के तहत बंदी रक्षक की तैनाती की जाएगी। कैदियों के विश्राम के लिए दरी, कंबल की व्यवस्था जेलर द्वारा की जाएगी।

नगर पालिका परिषद बस्ती के ईओ जेल में साफ-सफाई की व्यवस्था कराएंगे। जलापूर्ति के लिए एक टैंकर 24 घंटे जेल में उपलब्ध रहेगा। पुलिस कैंप भी स्थापित किया जाएगा। जिनकी जिम्मेदारी होगी कि वह कैदियों की सुरक्षा करें। पुलिस ड्यूटी जेलर के निर्देशानुसार शिफ्टवार की जाएगी। टेंट हाउस के माध्यम से बर्तन तथा जेल के मैन्यू के अनुसार रोस्टर वाइज खाना एवं नाश्ता की व्यवस्था तहसीलदार सदर की जिम्मेदारी होगी। कैदियों को प्रवेश कराते समय उन्हें एक नहाने का एवं कपड़े साफ करने का साबुन तहसीलदार उपलब्ध कराएंगे।

अस्थाई जेल में विचाराधीन कैदियों को यदि किसी पर्सनल सामान की आवश्यकता होती है, तो जेलर स्थाई जेल की कैंटीन से सामान उपलब्ध कराएंगे। अस्थाई जेल में कार्यरत पुलिसकर्मी तथा विचाराधीन कैदियों को मास्क, सैनिटाइजर, ग्लव्स की व्यवस्था सीएमओ करेंगे। अभिलेखों का रखरखाव जेलर की निगरानी में किया जाएगा। अस्थाई जेल के सभी खर्च जेल मैनुअल में वर्णित प्रावधानों के तहत किए जाएंगे।

Next Story
Share it