Top

अनुच्छेद 11

अनुच्छेद 11:

(I) प्रत्येक व्यक्ति, जिसपर किसी दंडनीय अपराध का आरोप लगाया गया है तब तक निरपराध माना जाएगा जब तक उसे ऐसी अदालत में जहां उसे अपनी सफाई का पूरा मौका दिया गया है कानून के अनुसार अपराधी ना सिद्ध कर दिया गया हो।

(II) किसी भी व्यक्ति को किसी कृत या अकृत (act or omission) के लिए कार्य करने के समय लागू राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार ही अपराधी माना जाएगा तथा उसे अपराध करने के समय लागू दंड से अधिक दंड नहीं दिया जाएगा।

Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it