Top

Lockdown Spacial: बेटी ने पिता को साइकिल पर बिठाकर बिहार पहुंचाया

15 वर्षीय बेटी गुरुग्राम से 12 सौ किलोमीटर साइकिल चलाकर बिहार पहुंची।

गुरुग्राम दरभंगा से साहस और करुणा की मिसाल बनी प्रवासी कामगारों के हौसले की एक और स्टोरी सामने आई है।

अपने बीमार पिता को साइकिल पर बिठाकर 15 साल की एक लड़की दिल्ली से सटे गुरुग्राम से चलकर बिहार के दरभंगा पहुंच गई। ज्योति ने 12 सौ किलोमीटर का सफर 7 दिनों में पूर्ण किया।उसके पिता मोहन गुरुराम में ही ई-रिक्शा चलाकर परिवार का भरण-पोषण करते थे।

कुछ दिन पूर्व वह एक्सीडेंट का शिकार हो गए। लॉकडाउन के कारण काम बंद होने और आर्थिक कठिनाई की वजह से बेटी ज्योति ने पिता के पास बचे कुछ पैसों से पुरानी साइकिल खरीदी और साइकिल पर ही बिहार लौटने का फैसला किया। ज्योति अब पिता को दोबारा गुरुराम नहीं जाने देना चाहती।

Next Story
Share it