18.4 C
Uttar Pradesh
Monday, February 6, 2023

बस्ती जिले की ऐसी विधानसभा सीट, जिस दल के उम्मीदवार ने यह सीट जीती प्रदेश में उसी की ही सरकार बनी

भारत

नगर बाजार(बस्ती)। बस्ती जनपद के महादेवा विधानसभा का अपना एक अलग ही पहचान है। कहा जाता है कि, जिस किसी भी दल ने यह सीट जीती प्रदेश में उसी की ही सरकार बनी है।

विधानसभा में चुनाव में अब थोड़े ही दिन बचे हैं ऐसे मे सभी दलों के प्रत्याशियों ने अपना प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है। प्रत्याशियों के साथ-साथ उनके समर्थक भी गाँव-गाँव में अपने आदमियों को लगाकर मतदाओं से अपने पक्ष मे मतदान करने की अपील करते हुए नजर आ रहे हैं। हर प्रत्याशी विकास का ही मुद्दा लेकर लोगों से अपने पक्ष मे मतदान करने का अपील कर रहा हैं।

तीन मार्च को छठे चरण में बस्ती जिले की कुल 5 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है। ऐसे में जीत-हार का समीकरण अब जनता तय करेगी।

स्थानीय लोगों की मान्यता है कि, जिस पार्टी का उम्मीदवार यहाँ से चुनाव जीता उसी की ही प्रदेश में सरकार बन जाती है।

महादेवा विधानसभा सीट पर विधायक की जीत और प्रदेश में उसी पार्टी की सरकार बनने का अबतक इतिहास

2017 में भारतीय जनता पार्टी के रवि सोनकर ने यहाँ से चुनाव जीता था। इन्हें 82429 मत मिले, जबकि बसपा के दूधराम कुल 56545 मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे।

1980 में कांग्रेस पार्टी के राम अवध प्रसाद यहाँ से चुनाव जीते और प्रदेश मे कांग्रेस की सरकार बनी थी।

1985 में कांग्रेस पार्टी के रामजियावन यहाँ से जीतकर विधायक बने और दुबारा फिर प्रदेश मे कांग्रेस की सरकार बनी थी।

1989 में जनता दल पार्टी से राम करन आर्य चुनाव लड़े तो मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्री बने।

भारतीय जनता पार्टी से वेद प्रकाश ने 1993 में चुनाव लड़ा और विधायक बने, तो प्रदेश मे कल्याण सिंह मुख्यमंत्री बने।

समाजवादी पार्टी से राम करन आर्य ने 1993 में चुनाव लड़े और जीत गये। उस समय समाजवादी पार्टी की सरकार बनी।

वेद प्रकाश ने 1996 में बसपा से चुनाव लड़ा और विधायक बने, तो प्रदेश में मायावती मुख्यमंत्री बनी। लेकिन जब 2002 में समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़े और जीत गये तो, समाजवादी पार्टी ने प्रदेश मे सत्ता संभाली।

इसी सीट से 2007 में बहुजन समाज पार्टी से दूधराम जीते तो प्रदेश मे बसपा की सरकार बनी। इसी तरह 2012 में सपा से पुनः जीते तो अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बने।

बीते विधानसभा चुनाव 2017 में यहाँ से भाजपा से रवि सोनकर विधायक चुने गये तो प्रदेश मे भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी और योगी आदित्य नाथ मुख्यमंत्री चुने गये।

और अबतक यह सिलसिला अनवरत चलता रहा है।

ऐसे मे सभी दल के प्रत्याशी विकास का मुद्दा लेकर अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। अब यह तीन मार्च को यहां के मतदाता ही यह तय करेंगे कि जीत का ताज किस दल के प्रत्याशी के सिर पर सजेगा।

Advertisement
- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें