कोरोना की वजह से लोग दूर भाग रहे हैं, सपा के ये नेता ‘आ गले लग जा’ वाली बात कर रहे हैं

कोरोना की वजह से लोग दूर भाग रहे हैं, सपा के ये नेता 'आ गले लग जा' वाली बात कर रहे हैं - Basti Khabar

कोरोना वायरस की वजह से ‘कृपया उचित दूरी बनाए रखें’ वाली अपील चल रही है ताकि ये वायरस फैले नहीं. इसकी चेन टूटे, लेकिन समाजवादी पार्टी के एक नेता हैं. ‘आ गले लग जा’ वाली स्टाइल में कह रहे हैं कि वो लोगों को गले लगा सकते हैं. इनके शब्दों में कोरोना ‘कुछ नहीं’ है. दुनिया में जिस बीमारी से हज़ारों लोग मर गए उसे इन्होंने बग़ैर लाग-लपेट के अफवाह करार दिया है.

बात हो रही है यूपी के आजमगढ़ से पूर्व सांसद और अभी सपा नेता रमाकांत यादव की. उन्होंने कोरोना को छलावा बताते हुए कहा कि इसे NRC, CAA और महंगाई के मुद्दे को भटकाने के लिए उछाला जा रहा है. इतना ही नहीं उन्होंने ‘व्हाट्सपीय’ अंदाज़ में ‘फेक न्यूज’ फैलाते हुए कहा कि भारत में एक भी आदमी की मौत कोरोना से नहीं हुई.

कोरोना एक छलावा है. कोरोना एक बहकाने वाला मामला है. कोरोना की अफवाह इसलिए उड़ाई गई, मैं दावे के साथ कह रहा हूं, हमारे देश में एक भी व्यक्ति कोरोना से मरा हो तो बताइए. अगर किसी को कोरोना हुआ तो लोग कहते हैं एक मीटर दूर रहिए. मैं कहता हूं लाइए मैं गले लगाता हूं. ये केवल NRC के लिए CAA के लिए, महंगाई से भटकाने के लिए, धरना-प्रदर्शन ना करें, इसके लिए बहकाया जा रहा है. कोरोना, कोरोना, कोरोना. कोरोना कुछ नहीं है. सरकार तो बहकाएगी.’

अब वीडियो में ये शब्द सुनकर अपने कानों पर यकीन करें:

नेता के लिए डेटा

दुनिया भर में लोग कोरोना की वजह से परेशान हैं. लॉकडाउन जैसी स्थितियां हैं. दुनिया भर में करीब 27 लाख मामले सामने आ चुके हैं और 11 हजार के करीब मौतें हो चुकी हैं. भारत में हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, 231 केस सामने आए हैं, जिनमें 5 की मौत हो चुकी है. इसमें चार भारतीय और एक विदेशी नागरिक शामिल हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक ‘जनता कर्फ्यू ’ की अपील की है. लगातार सोशल डिस्टेंसिंग की बात कही जा रही है. सड़कों पर सन्नाटा होने लगा है. दवाएं अभी भी खोजी जा रही हैं.

और नेता जी की मानें तो कोरोना ‘कुछ नहीं’ है.

READ  सांसद प्रवेश वर्मा ने केजरीवाल को 'आतंकी' कहा, तो CM की बेटी ने दिया जवाब
Social profiles