30 C
Uttar Pradesh
Saturday, September 18, 2021

PM Modi With Uddhav Thackeray Live Meeting: पीएम मोदी से अलग से मुलाकात पर उद्धव बोले, ‘नवाज शरीफ से मिलने नहीं गया था, अपने प्रधानमंत्री से बात करने में कोई हर्ज नहीं’

भारत

CM Uddhav Balasaheb Thackeray met with the Hon’ble Prime Minister Shri Narendra Modi today along with Deputy CM Ajit Pawar & Minister Ashok Chavan./ फोटो साभार - @OfficeofUT
CM Uddhav Balasaheb Thackeray met with the Hon’ble Prime Minister Shri Narendra Modi today along with Deputy CM Ajit Pawar & Minister Ashok Chavan./ फोटो साभार – @OfficeofUT

महाराष्ट्र के तमाम मुद्दों पर बातचीत के बाद उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी ने अलग से 10 मिनट के लिए मुलाकात की। इस पर बयान देते हुए उद्धव ने कहा कि वह पाकिस्तान से पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से नहीं बल्कि अपने पीएम से मिल रहे थे।

हाइलाइट्स:

  • महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री आवास पर पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक की
  • मीटिंग के बाद उद्धव ने पीएम से अलग से मुलाकात के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं
  • उद्धव ने कहा कि वह पाकिस्तान से पूर्व पीएम नवाज शरीफ से नहीं बल्कि अपने पीएम से मिल रहे थे

नई दिल्ली/मुंबई। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को नई दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री आवास पर पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक की। मीटिंग के बाद उद्धव ने पीएम से अलग से मुलाकात भी की जिसके कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। इस पर बयान देते हुए उद्धव ने कहा कि वह पाकिस्तान से पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से नहीं बल्कि अपने पीएम से मिल रहे थे। इसमें कोई हर्ज नहीं होना चाहिए।

पीएम मोदी के साथ दिल्ली में हुई बैठक में मराठा आरक्षण से लेकर कोरोना संकट और ताउते तूफान से हुए नुकसान समेत कई मुद्दों पर बात हुई। यूं तो बैठक में सीएम के साथ डेप्युटी सीएम अजीत पवार और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण भी मौजूद रहे लेकिन इसके बाद उद्धव ने पीएम से अलग से 10 के लिए मुलाकात भी की जिसके कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

‘हम साथ नहीं लेकिन रिश्ता नहीं टूटा है’

पीएम से मीटिंग के बाद उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र की समस्याएं रखीं और बेहद सकारात्मक माहौल में बातचीत हुई। पीएम मोदी से अलग से मुलाकात पर उद्धव ठाकरे ने सफाई देते हुए कहा, ‘हम भले ही राजनीतिक रूप से साथ नहीं हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हमारा रिश्ता टूट चुका है। मैं कोई नवाज शरीफ से मिलने नहीं गया था। तो अगर मैं पीएम से अलग से मिलता हूं तो इसमें कुछ गलत नहीं होना चाहिए।’

‘वैक्सीन पॉलिसी में बदलाव के लिए पीएम का शुक्रिया’

उद्धव ठाकरे ने वैक्सीन पॉलिसी में बदलाव को लेकर पीएम मोदी का शुक्रिया किया। उद्धव ने कहा, ‘हमें 18- 44 उम्र वर्ग के 6 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए 12 करोड़ डोज की जरूरत थी। हमने कोशिश की लेकिन सफलता नहीं मिली क्योंकि पर्याप्त और स्थिर आपूर्ति नहीं थी। प्रधानमंत्री ने टीकाकरण की सारी जिम्मेदारी केंद्र के पर ली है तो हम उनको धन्यवाद देना चाहते हैं और अपेक्षा करते हैं कि जो रुकावटें आ रही थीं वे अब दूर हो जाएंगी और जल्द से जल्द सबका टीकाकरण हो जाएगा।’

मराठा आरक्षण से लेकर मेट्रो कारशेड पर बात

उद्धव ठाकरे ने पीसी में कहा, ‘हमने महाराष्ट्र के संबंध में पीएम मोदी से कई मांगे रखीं। मराठा आरक्षण को लेकर बात हुई है। SC/ST पदोन्नक्ति आरक्षण को लेकर बात हुई है। इसके अलावा मेट्रो कार शेड के लिए कांजुर में जमीन दी जाए, इसकी मांग की है। जीएसटी रिटर्न्स समय पर मिल जाए, इस पर भी हमने PM से विनती की है।’

फसल बीमा पर पीएम मोदी से मांग

उद्धव ने आगे कहा, ‘इसके अलावा किसान के मुद्दे को भी हमने पीएम के सामने रखा है। जैसे फसल के लिए कर्ज मिलता है वैसे ही फसल के लिए बीमा मिल जाएं। इसके लिए हमने बीड मॉडल का जिक्र किया है। पीएम मोदी ने विश्वास दिलाया है कि इस संबंध में अधिकारियों से बात करेंगे।’

एनडीआरएफ के प्रावधानों में बदलाव की मांग

इसके अलावा उद्धव सरकार ने एनडीआरएफ के प्रावधानों में बदलाव की मांग भी की। उद्धव ने कहा, ‘मुंबई, कोकण के समुद्र किनारों पर तूफान टकराता है।अभी 10-15 दिन पहले भी ऐसे ही तूफान मुंबई समेत राज्य के समुद्र तटीय क्षेत्रों को छूकर गया। भले ही तूफान ने सिर्फ स्पर्श किया हो लेकिन उसकी वजह से नुकसान बहुत हो जाता है। इसको लेकर भी हमने पीएम के सामने बात रखी है। ऐसे समय के लिए केंद्र को अब मदद के नियम बदलने चाहिए। एनडीआरएफ के प्रावधानों को ठीक करने की जरूरत है, जो NDRF की तरफ से पैसा आता है वह राज्यों को कम मिल पाता है। एनडीआरएफ के प्रावधान पुराने हैं इन्हें बदलने की मांग की।’

मराठा को अभिजात वर्ग की भाषा का दर्जा दिए जाने की मांग

उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘इसके अलावा मराठी भाषा को अभिजात भाषा का दर्जा दिए जाने की मांग की। इसे लेकर पहले कई डॉक्युमेंट्स भेजे जा चुके हैं। और जिन कागजात की जरूरत होगी वो भी भेजे जाएंगे। लंबे समय से इस पर मांग है।’ 14 वे आयोग के पेंडिंग निधि मिलने के बारे में भी पीएम मोदी से बात हुई।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें