Top

रणजीत बच्चन मर्डर केस में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है

रणजीत बच्चन मर्डर केस में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है
X

विश्व हिंदू महासभा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष रणजीत सिंह की 2 फरवरी को लखनऊ के हजरतगंज इलाके में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. पता चला है कि रणजीत को नौ एमएम की पिस्टल से नाक के पास गोली मारी गई थी.

लखनऊ के एसीपी नवीन अरोड़ा ने बताया कि आठ टीमों को मर्डर केस सुलझाने में लगाया गया है. हज़रतगंज इलाके में रणजीत की हत्या की गई थी. स्पॉट से पुलिस ने दो मोबाइल फोन जब्त किए हैं. फोन साइबर सेल को दे दिए गए हैं. कॉल डिटेल्स निकालने के अलावा CCTV फुटेज भी देखे जा रहे हैं.

रणजीत को धमकी मिली थी, पर FIR नहीं कराई थी

रणजीत की पत्नी कालिंदी ने बताया कि एक दिन पहले ही रणजीत का जन्मदिन था. उन्होंने हवन किया, फिर CAA-NRC के समर्थन में एक सभा में गए. उसी दिन शाम को रणजीत को फोन कॉल पर जान से मारने की धमकी भी मिली थी.

रणजीत ने ना तो धमकी पर ध्यान दिया, ना ही FIR कराई. अगले दिन सुबह जब वो मॉर्निंग वॉक पर निकले, तभी गोली मार दी गई.

कालिंदी ने कहा, ‘रणजीत को धमकियां तो मिलती थीं, लेकिन उन्हें भरोसा था कि योगी आदित्यनाथ के शासन में उन्हें कुछ नहीं होगा.’

साली से रेप का आरोप

रणजीत बच्चन पर अपनी साली से रेप का आरोप था और चार्जशीट भी फाइल हो चुकी थी. 2017 में ये केस दर्ज किया गया था. इसके बाद से रणजीत इस मामले में पुलिस रिकॉर्ड में फरार चल रहे थे.

पूर्व बीजेपी सांसद बोले- कानून पर ध्यान दें ‘माननीय’

पूर्व बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने अपनी ही सरकार की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं. त्रिपाठी ने रविवार को फेसबुक पोस्ट में लिखा- ‘कमलेश तिवारी के बाद हिंदू महासभा के अध्यक्ष रणजीत बच्चन की हत्या निंदनीय है। कुछ चंद ‘माननीयों’ को दिल्ली में प्रचार करने के बजाय अपने प्रदेश की कानून व्यवस्था मंथन करना चाहिए.’

Sharad Tripathi
पूर्व बीेजेपी सांसद शरद त्रिपाठी का फेसबुक पोस्ट. (फोटो- फेसबुक से)

माना जा रहा है कि ये सीधे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को टार्गेट करते हुए लिखा गया है.

Next Story
Share it