Top

हाथरस पीड़ित के परिजनों से मिलने जा रहे राहुल और प्रियंका के आड़े आये यूपी पुलिस, धक्का - मुक्की में जमीन पर गिरे राहुल

हाथरस पीड़ित के परिजनों से मिलने जा रहे राहुल और प्रियंका के आड़े आये यूपी पुलिस, धक्का - मुक्की में जमीन पर गिरे राहुल
X

पुलिसकर्मी ने राहुल को रोकने के लिए पहले गिरेबान पकड़ा फिर धक्का मारकर जमीन पर गिरा दिया।

हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर सियासत लगातार गरमाती जा रही है. गुरुवार को दिल्ली से हाथरस के लिए रवाना हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को यूपी पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर सियासत लगातार गरमाती जा रही है. गुरुवार को दिल्ली से हाथरस के लिए रवाना हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को यूपी पुलिस ने हिरासत में ले लिया. ग्रेटर नोएडा के पास यूपी पुलिस और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई हुई, इस दौरान धक्कामुक्की में राहुल गांधी भी ज़मीन पर गिर पड़े. कांग्रेस सांसद राहल गांधी को हिरासत में लिए जाने को लेकर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने नाराजगी जाहिर की है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर लिखा ‘’हिटलर की तानाशाही विचारधारा की जर्जर नींव पर टिकी आरएसएस और उसकी संस्था भाजपा यदि भारत में अंग्रेजों की हुकूमत की समाप्ति का अध्ययन करके भी कांग्रेस की वैचारिक ताकत नहीं पहचान पाए, तो सच में तरस के लायक हैं आप। इन गीदड़भकियों को शाखाओं के भीतर ही रखो, सड़क पर तो जनता है’’

आपको बता दें कि हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए राहुल और प्रियंका पैदल ही हजारों कार्यकर्ताओं के साथ हाथरस के लिए रवाना हुए थे. तभी नोएडा पुलिस ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में ले लिया. कांग्रेस की ओर से आरोप लगाया गया है कि यूपी पुलिस के साथ धक्कामुक्की में राहुल गांधी गिर पड़े और पुलिस ने उनपर लाठियां मारी. आपको बता दें कि प्रशासन ने हाथरस की सीमाओं को सील किया हुआ है और धारा 144 लगाई गई है.

गौरतलब है कि इससे पहले जब पीड़िता की मौत हुई थी, तो प्रियंका गांधी वाड्रा की ओर से यूपी सरकार पर निशाना साधा गया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी, लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई. आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई. यूपी में फैले जंगलराज की हद नहीं. मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती, ये मुख्यमंत्री की जवाबदेही का वक्त है जनता को जवाब चाहिए.

Next Story
Share it