राजिंदर नगर: शादी के हजारों प्रपोजल ठुकरा चुके AAP के राघव चड्ढा जीत रहे हैं या नहीं?

 राजिंदर नगर: शादी के हजारों प्रपोजल ठुकरा चुके AAP के राघव चड्ढा जीत रहे हैं या नहीं?

राजिंदर नगर: शादी के हजारों प्रपोजल ठुकरा चुके AAP के राघव चड्ढा जीत रहे हैं या नहीं? Basti Khabar

विधानसभा सीट- राजिंदर नगर

अहम उम्मीदवार-

राघव चड्ढा- AAP
सरदार आर.पी. सिंह- BJP
रॉकी तुसीद- कांग्रेस


AAP के राघव चड्ढा 4131 वोटों से आगे चल रहे हैं.


दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020. सभी 70 सीटों पर 8 फरवरी को वोटिंग हुई थी. नतीजे 11 फरवरी को आ रहे हैं. इस बार दिल्ली की राजिंदर नगर विधानसभा सीट पर आम आदमी पार्टी ने राघव चड्ढा को उतारा है. बीजेपी ने सरदार आर.पी. सिंह को और कांग्रेस ने रॉकी तुसीद को.

राघव AAP के प्रवक्ता हैं. 2019 में दक्षिणी दिल्ली से लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन जीत नहीं मिली थी. पार्टी ने दोबारा राघव पर भरोसा जताते हुए विधानसभा चुनावों में उतारा. 2015 चुनाव AAP ने विजेंदर गर्ग को टिकट दिया था. वो चुनाव जीत भी गए थे, लेकिन इस बार पार्टी ने उनका टिकट काट दिया.

2013 में भी आप ने राजिंदर नगर से विजेंदर सिंह को उतारा था, लेकिन तब उन्हें बीजेपी के आर.पी. सिंह के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. सिंह करीब डेढ़ हजार से ज्यादा वोटों से जीते थे.

इसके पहले साल 1993 से 2008 तक इस सीट पर बीजेपी का ही कब्जा था, लेकिन 2008 में कांग्रेस के रामाकांत गोस्वामी को जीत मिली थी. 2013 में फिर बीजेपी जीती थी और 2015 में AAP.

AAP, बीजेपी और कांग्रेस के उम्मीदवारों के बारे में जानिए

राघव 31 साल के हैं. शादी नहीं हुई है. शायद यही वजह है कि उन्हें आए दिन शादी के प्रपोजल आते रहते हैं. लोकसभा चुनाव के पहले भी खबरें आई थीं कि उनके सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर उन्हें कई सारी लड़कियों से शादी के लिए प्रपोज किया है. शायद यही कारण है कि उनके फैन्स के बीच वो ‘एलिजिबल बैचलर’ के तौर पर पॉपुलर हैं. वहीं इन सारे प्रपोजल्स पर राघव ने कभी खुलकर बात नहीं की है. लोकसभा चुनाव के वक्त आज तक के सवाल के जवाब में कहा था,

READ  गांधी के स्वतंत्रता आंदोलन को ड्रामा बताने वाले BJP सांसद अनंत हेगड़े को माफी मांगनी पड़ेगी!

‘मेरा ध्यान अभी सिर्फ चुनाव लड़ने पर है, मैं बाकी और किसी बात पर ध्यान नहीं दे रहा हूं.’ 

आर.पी. सिंह, यानी रविंदर पाल सिंह को BJP ने राजिंदर नगर से तीसरी बार मौका दिया है. 2020 चुनाव के लिए जमा किए एफिडेफिट के मुताबिक, सिंह हाइव कम्यूनिकेशन प्राइवेट लिमिटेड, एवी ऑनलाइन सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड, हाइव सपोर्ट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड और दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन के डायरेक्टर हैं.

कौन हैं रॉकी?

रॉकी, 25 साल के हैं. स्टूडेंट लीडर रह चुके हैं. 2017 में दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन (DUSU) के अध्यक्ष चुने गए थे. हालांकि, बाद में उन्हें पद से हटा दिया गया था, क्योंकि उनके ऊपर एक स्टूडेंट का शोषण करने का आरोप लगा था और ये बात उन्होंने स्टूडेंट यूनियन के चुनाव के वक्त नहीं बताई थी. रॉकी बचपन से ही राजिंदर नगर में रह रहे हैं और दावा करते हैं कि वहां के लोगों की दिक्कतों को अच्छे से जानते हैं. इस बार हुए विधानसभा चुनाव में रॉकी सबसे युवा उम्मीदवार थे.