27.8 C
Uttar Pradesh
Saturday, October 1, 2022

षड्यंत्र के तहत फंसाया जा रहा प्रधानाचार्य राम कुमार सिंह को: संजय द्विवेदी

भारत

डॉ. एसके सिंह
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की पत्रकार वार्ता, जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से मिलकर प्रकरण की निष्पक्ष जांच की मांग।

•बालिका झुठ बोल रही है, उसका लाई डिटेक्टर टेस्ट कराया जाय। हमलावर गुंडों की तुरन्त गिरफ्तारी हो, अन्यथा जनपद के सभी विद्यालयों को बंद करेंगे


संतकबीरनगर। हीरालाल रामनिवास इंटर के कॉलेज के प्रधानाचार्य राम कुमार सिंह को राजनीतिक षड्यंत्र के तहत फंसाया जा रहा है। आरोप लगाने वाली बालिका झुठ बोल रही है, उसका लाई डिटेक्टर टेस्ट कराया जाय। प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराकर हमला करने वाले गुंडों को फिरफ्तार कर जेल भेजा जाए, अन्यथा विवश होकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ जनपद के सभी विद्यालयों को बन्द कर जिलाधिकारी कार्यालय पर धरने पर बैठेगा।

उक्त बातें उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के मण्डलीय मंत्री/जिलाध्यक्ष संजय द्विवेदी ने हीरालाल रामनिवास इंटर कालेज में आयोजित बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। उन्होंने आक्रामक तेवर अपनाते हुए कहा कि हम शिक्षा के मंदिर को प्रायोजित तरीके से बदनाम नही होने देंगे। शोशल मीडिया के माध्यम से षड्यन्त्रकारी ताकतें प्रधानाचार्य के विरुद्ध प्रायोजत दुष्प्रचार कर रही हैं। घटना से पूरे प्रदेश में जिले व संस्था की बदनामी हो रही है।

उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर मामले की निष्पक्ष जांच कराने व प्रधानाचार्य पर जानलेवा हमला करने गुंडों की तुरन्त गिरफ्तारी करने की मांग की गई है। गिरफ्तारी ना होने पर प्रथम चरण में जनपद व दूसरे चरण में मंडल के सभी विद्यालय बंद कर विशाल आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

पत्रकारों के सवालों के सवालों का जबाब देते हए श्री द्विवेदी ने कहा कि 28 नवम्बर को टीईटी परीक्षा के दौरान विद्यालय परिसर के सभी सीसीटीवी कैमरे आन थे, और उसकी मॉनिटरिंग प्रदेश मुख्यालय से की जा रही थी, यदि आरोप लगाने वाली बालिका की बात में दम है तो उसकी निष्पक्ष जांच हो, और कार्रवाई की जाय।

उन्होंने कहा कि प्रधानाचार्य पर पहले हमला होता है, फिर मुकदमा ना दर्ज किए जाने का दबाव बनाकर ब्लैक मेल किया जाता है, और जब पुलिस ने हमलावर गुंडों पर मुकदमा दर्ज कर लिया, तो मर्यादा की हद पार करते हए आरोपी गुंडों के परिवारीजन अपने बेटी को षड्यंत्र का हथियार बनाकर संस्था के प्रधानाचार्य को बदनाम कर रहे हैं। हमारी मांग है कि आरोप लगाने वाली बालिका का मेडिकल परीक्षण कराया जाय।

श्री द्विवेदी ने अपील किया कि विद्यालय को राजनीति का अखाड़ा ना बनाए। इससे संस्था में अध्ययन करने वाले 4 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं की मनःस्थिति पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है, जिससे स्थिति विस्फोटक हो सकती है। समाज व अभिभावकों की भी जिम्मेदारी है कि संवेदनशील प्रकरण में शांति बनाए रखे।

इस दौरान प्रांतीय उपाध्यक्ष मार्कण्डेय सिंह, गिरिजानंद यादव, मोहिबुल्लाह खान, अरुण ओझा, उदयभान सिंह, मनोज मिश्रा, विनय मिश्रा, राकेश मिश्रा, भास्कर मणि त्रिपाठी, प्रवीण कुमार त्रिपाठी, सन्त मोहन त्रिपाठी, नरेन्द्र नाथ पांडेय, सतीश प्रसाद, दिनेश यादव, डी के वर्मा, जी पी राय, रमेश चंद्र पांडेय, सुनील कुमार , सुनील कुमार मिश्र, महेश राम, जय प्रकाश गौतम, जितेंद्र कुमार, विनोद चौरसिया, आफताब आलम अंसारी, विजय यादव सहित अन्य मौजूद रहे।

Advertisement
- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें