Top

सिद्धार्थनगर: नेशनल हाइवे में अधिगृहीत भूमि का नही मिला मुआवज़ा, भुखमरी के कगार पर पहुंचा परिवार

NH-233 द्वारा अधिगृहीत भूमि
X

NH-233 द्वारा अधिगृहीत भूमि 

सिद्धार्थनगर। जिले के नौगढ़ ब्लॉक में गाँव सिसहनिया निवासी मोजीबुद्दीन पुत्र मुनीब अहमद खा ने बृहस्पतिवार को जिलाधिकारी सिद्धार्थनगर के समक्ष अपने मामले को पेश करते हुये न्याय की गुहार लगाई है। जिलाधिकारी से अपने लिखित प्रार्थना पत्र के माध्यम से मोजीबुद्दीन ने बताया है कि भीमापार गाँव का गाटा संख्या 837छ जो NH-233 में अधिगृहीत है उसपर मार्ग निर्माण कार्य के संबंध में मामला माननीय न्यायालय में विचारधीन है जिसपर 12 दिसंबर 2020 को सुनवाई की जाएगी। ऐसे में नेशनल हाइवे अथॉरिटीज ऑफ इंडिया ने मार्ग निर्माण रोक रखा है। और जो भी भूमि उसके अंतर्गत अधिगृहीत की गयी है उसके मुआवजे का भुगतान पिछले चार वर्षों से नही हो पाया है। जिसके कारण उस को किसी तरह से उपयोग में नही लाया जा सकता है, और न ही किसी को वह भूमि बेंची जा सकती है।

मोजीबुद्दीन ने इस मामले में विभागीय लोगों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुये बताया कि इस परिस्थिति से जूझते हुये उनका परिवार भुखमरी के कगार पर खड़ा है। उसे डर है कि कहीं बिना मुआवजे के ही उसकी भूमि पर मार्ग निर्माण न कर दिया जाए। जिसके संबंध में जिलाधिकारी से न्याय की मांग की है।


Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it