27.9 C
Uttar Pradesh
Friday, August 19, 2022

जान की परवाह किए बिना नहर में कूद कर दिव्यांग व्यक्ति की जान बचाने वाले अलीगढ़ के दरोगा को अपर मुख्य सचिव करेंगे सम्मानित

भारत

डॉ. एसके सिंह
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.
  • यूपी अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने आशीष कुमार को 50000 रुपये का पुरस्कार दिए जाने की घोषणा।
  • अलीगढ़ के गंगनहर में डूब रहे व्यक्ति कीे जान दरोगा आशीष कुमार ने बचाई।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ के थाना दादों में तैनात उप निरीक्षक, आशीष कुमार द्वारा गंगनहर में डूब रहे व्यक्ति के लिए बिना देरी के नहर में छंलाग लगाकर जान बचाने का साहसिक कार्य किया गया।

UP Additional Secretary Avnish Awasthi will honor Sub Inspector Ashish Kumar
UP Additional Secretary Avnish Awasthi will honor Sub Inspector Ashish Kumar

अलीगढ़ एसआई आशीष कुमार होने सम्मानित (Aligarh SI Ashish Kumar)

अपर मुख्य सचिव, गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने इस सराहनीय एवं साहसिक कार्य को अंजाम देने वाले उप निरीक्षक,आशीष कुमार के उत्साहवर्धन हेतु प्रदेश सरकार की ओर से 50 हजार रूपये का इनाम देने की घोषणा की है।

गंगनहर में डूब रहा था व्यक्ति

उल्लेखनीय है कि विगत 20 जून को उप निरीक्षक, आशीष कुमार की ड्यिूटी गंगनहर साॅकरा पर दोनों नहरों के बीच पुल पर लगी थी। पन्नालाल पुत्र तेज सिंह यादव, निवासी ग्राम हारूनपुर खुर्द थाना दादों, अलीगढ़, नहर की पटरी पर खड़ा था, अचानक समय करीब 1.30 बजे गंगनहर में गिर गया, जिसे देख कर आस-पास के लोग चिल्लाने लगे।

उपनिरीक्षक आशीष कुमार को यूपी अपर सचिव अवनीश अवस्थी करेंगे सम्मानित
उपनिरीक्षक आशीष कुमार को यूपी अपर सचिव अवनीश अवस्थी करेंगे सम्मानित

जान हथेली पर रख कर गंगनहर में कूदे एसआई आशीष कुमार

मौके पर तमाम लोग मौजूद थे, लेकिन पानी में कूदने की हिम्मत कोई नहीं जुटा पा रहा था। इतने में किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। आवाज सुनकर वहां डियूटी पर तैनात उ0नि0 आशीष कुमार उसे बचाने के लिए बिना देरी किये गंगनहर में कूद गये और डूबने वाले दिव्यांग व्यक्ति को गंगनहर से बाहर निकाल लिया। जिसे स्थानीय लोगों द्वारा सकुशल घर पहुंचाया गया।

SSP ने दी 25000 रु प्रोत्साहन राशि

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ”अलीगढ़ पुलिस के जांबाज सब इंस्पेक्टर आशीष, बचपन में तैराकी सीखी, उसके बाद कहीं सालों तक तैराकी नहीं की, लेकिन डूबते हुए की जान बचाने के लिए खाकी किस कदर समर्पित है यह दुनिया को दिखा दिया।” उन्होंने आगे लिखा, ”सब इंस्पेक्टर आशीष को प्रशस्ति पत्र एवं 25000 रुपए प्रोत्साहन राशि स्वीकृत की जाती है।”

Advertisement
- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें