Top

जिस अपराधी ने 23 बच्चों को बंधक बनाया था, उसकी बेटी की परवरिश के लिए पुलिस ने प्लान बनाया

जिस अपराधी ने 23 बच्चों को बंधक बनाया था, उसकी बेटी की परवरिश के लिए पुलिस ने प्लान बनाया
X

उत्तर प्रदेश. जिला फर्रुखाबाद. गांव करथिया. यहां 23 बच्चों को बंधक बनाने वाले सुभाष बाथम की पुलिस की कार्रवाई में मौत हो गई थी. अब पुलिस ने सुभाष की एक साल की बेटी को गोद लेने की बात कही है.

‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, कानपुर (रेंज) के IG मोहित अग्रवाल ने कहा,

सुभाष बाथम के परिवार वालों में से किसी ने भी अभी तक उसकी एक साल की बेटी के लिए हमें अप्रोच नहीं किया है. अगर उसकी ज़िम्मेदारी उठाने के लिए कोई नहीं आता है, तो हम ये तय करेंगे कि वो बच्ची हमारी टीम के किसी व्यक्ति द्वारा गोद ली जाए, जिनका अपना कोई बच्चा नहीं है. जब तक वो पुलिस कस्टडी में है, हमारा विभाग ही उसके सारे खर्च उठाएगा. उसकी पढ़ाई-लिखाई का खर्चा भी पुलिस ही उठाएगी.

बच्ची की परवरिश को लेकर पुलिस ने बाथम की मां सूरजा देवी से भी संपर्क किया, लेकिन उनकी तरफ से भी कोई जवाब नहीं आया है.

मामला क्या है?

30 जनवरी को सुभाष ने अपनी बेटी के जन्मदिन के नाम पर बच्चों को घर बुलाया. समय था, दोपहर के ढाई बजे. थोड़ी देर बाद बच्चों को बेसमेंट में ले गया. बच्चों ने घर जाने की जिद की, तो उन्हें इकट्ठा करके दरवाजे बंद कर दिए. वहां उसकी पत्नी भी मौजूद थी. बच्चों को बंधक बनाने के बाद छत पर जाकर सबको बता दिया कि बच्चे उसके कब्ज़े में हैं.

Batham
सुभाष बाथम की पुलिस फायरिंग में मौत हो गई. उसकी एक साल की बेटी ही बची है परिवार में.

पुलिस की कार्रवाई में सुभाष की मौत हुई, क्रॉस फायरिंग के दौरान. उसकी पत्नी को भी भीड़ ने पकड़कर पीट दिया. बाद में अस्पताल में उसकी भी मौत हो गई.

Next Story
Share it