यूपी मुख्य सचिव द्वारा प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग ग्रुप की बैठक में एक साथ कई योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की गई

Project monitoring group meeting
Project monitoring group meeting

लखनऊ। मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग ग्रुप की बैठक में स्मार्ट सिटी योजना, अमृत योजना, नमामि गंगे योजना, मेट्रो परियोजना एवं श्री काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरीडोर के विकास की प्रगति की गहन समीक्षा की गई।

अपने संबोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत जिन शहरों की प्रगति मानक से कम है, संबंधित मण्डलायुक्त साप्ताहिक एवं नगर आयुक्त दैनिक रूप से समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में प्रगति लाने के लिए गति एवं मैनपावर बढ़ाया जाये। उन्होंने नगर आयुक्तों से अपेक्षा की कि वह साइट का दैनिक निरीक्षण कर कार्यों को स्पीडअप करें। स्मार्ट सिटी योजना में आगरा एवं वाराणसी की उल्लेखनीय प्रगति की उन्होंने सराहना की।

रैंकिंग में आगरा देश में चौथे तथा वाराणसी आठवें स्थान पर है।

मेट्रो परियोजना कानपुर एवं आगरा की प्रगति की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने कार्यों की उल्लेखनीय प्रगति पर सराहना करते हुए प्रमुख सचिव आवास एवं एम0डी0 यूपीएमआरसी की मुक्तकंठ से प्रशंसा की।

अमृत योजना एवं नमामि गंगे योजना की प्रगति समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने निर्धारित समयावधि में सभी प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए सतत समीक्षा एवं स्थलीय निरीक्षण करने के निर्देश दिये।

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरीडोर की प्रगति समीक्षा में उन्होंने निर्माण कार्यों में तेजी लाकर समस्त कार्य 15 नवम्बर, 2021 तक पूरा करने की अपेक्षा की।

समीक्षा में बताया गया कि कॉरीडोर का काम बहुत तेजी से चल रहा है, दो शिफ्टों में कार्य कराया जा रहा है तथा 57 प्रतिशत से अधिक कार्य पूरा हो गया है।

See also  मीडिया दफ्तरों पर छापे निंदनीय, अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला

इससे पूर्व प्रजेन्टेशन के माध्यम से परियोजनावार प्रगति आख्या प्रस्तुत की गई। स्मार्ट सिटी योजना में 9518.30 करोड़ रुपये की लागत की 487 परियोजनायें स्वीकृत हैं, जिनमें से 408 की डीपीआर एवं 328 प्रोजेक्ट्स के टेण्डर अनुमोदित किये जा चुके हैं।

320 प्रोजेक्ट्स के वर्क आर्डर जारी हो गये हैं, जिनमें से 126 प्रोजेक्ट पूरे हो गये हैं तथा 187 प्रोजेक्ट्स पर तेजी से काम चल रहा है। अमृत योजना में 12475.33 करोड़ रुपये की 289 परियोजनाओं की डीपीआर स्वीकृत कर दी गई है, जिनमें से 286 में शासनादेश जारी किये जा चुके हैं, 277 के टेण्डर स्वीकृत हो चुके हैं।

126 प्रोजेक्ट्स पूरे हो गये हैं तथा 151 पर तेजी से काम चल रहा है। शेष 79 प्रोजेक्ट माह दिसम्बर, 2021 तक पूरे कर लिये जायेंगे।

नमामि गंगे योजना की समीक्षा में बताया गया कि प्रदेश में 46 परियोजनायें संचालित हैं, जिनमें से 22 परियोजनायें पूरी हो गई हैं तथा शेष परियोजनाओं के कार्य प्रगति पर हैं।

कानपुर एवं आगरा मेट्रो की प्रगति समीक्षा में बताया गया कि दोनों शहरों में मेट्रो का काम बहुत तेजी से चल रहा है। कानपुर मेट्रो में सभी 09 स्टेशन के पाइल कैप एवं ट्रैक स्लैब का कार्य पूरा हो गया है। 619 गर्डर की कास्टिंग एवं 544 यू-गर्डर के इरेक्शन का कार्य भी पूरा हो गया है। 07 स्टेशन के पीईबी रूफ स्ट्रक्चर का कार्य भी पूर्ण है।

बैठक में यह भी बताया गया कि कानपुर मेट्रो के स्ट्रक्चर के समस्त कार्य पूरे हो गये हैं, माह नवम्बर, 2021 में ट्रायल रन प्रस्तावित है, जिसके लिए 01 ट्रेन माह सितम्बर, 2021 तक दूसरी ट्रेन माह अक्टूबर, 2021 में प्राप्त हो जायेगी।

See also  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आज करेंगे कोरोना संक्रमण जागरूकता रथ को रवाना

आगरा मेट्रो की समीक्षा में बताया गया कि 553 पाइल्स, 101 पाइल कैप तथा 59 पियर्स का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। कॉस्टिंग यार्ड में 18 पियर कैप और 14 टी-गर्डर की कॉस्टिंग का कार्य हो गया है। डिपो बिल्डिंग एवं मेट्रो से सम्बन्धित दूसरे जरूरी कार्य भी तेजी से किये जा रहे हैं।

बैठक में अपर मुख्य सचिव धर्मार्थ कार्य एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव नगर विकास डॉ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव कार्यक्रम क्रियान्वयन सुरेश चन्द्रा, अपर मुख्य सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार, प्रमुख सचिव नमामि गंगे अनुराग श्रीवास्तव सहित सम्बन्धित प्रशासनिक एवं वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

Read More: उत्तर प्रदेश: शीघ्र होगा योगी मंत्रिमंडल का विस्तार

Advertisement

Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers. Follow @RudhauliDr

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *