Top

बस्ती से हाल में हटाए गए सीएमओ ने लगाई गंगा में छलांग

बस्ती से हाल में हटाए गए सीएमओ ने लगाई गंगा में छलांग
X

CMO पद से हटाए गए जेपी त्रिपाठी गंगा पुल से लापता, NDRF बुलाई गई

मिर्जापुर। बस्ती से हाल ही में सीएमओ पद से हटाए गए जे पी त्रिपाठी ने गंगा में लगाई छलांग। वाराणसी से मिर्जापुर आ रहे थे ड्यूटी।

मंडलीय अस्पताल में वरिष्ठ परामर्शदाता के पद पर थे तैनात। जानकारी होते ही पुलिस व प्रशासनिक अफसर मौके पर पहुंचे। डॉक्टर की पत्नी भी वाराणसी से भटौली पुल पहुंची।

लापता डॉक्टर जेपी त्रिपाठी - फोटो : Basti Khabar
लापता डॉक्टर जेपी त्रिपाठी - फोटो : Basti Khabar

बस्ती के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) पद से हटाए गए डॉक्टर जेपी त्रिपाठी शनिवार की सुबह अचानक गंगा पुल के पास से लापता हो गए। वह वाराणसी से मिर्जापुर ड्यूटी पर जा रहे थे। उनके कार चालक की सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों और एनडीआरएफ को भी बुलाया है। बस्ती से हटाने के बाद जेपी त्रिपाठी को मिर्जापुर में वरिष्ठ परामर्शदाता के पद पर भेजा गया था। वाराणसी में तैनात उनकी डॉक्टर पत्नी सुनंदा त्रिपाठी भी मौके पर पहुंची हैं। प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल में जुटे हैं। गंगा में तलाश के लिए गोताखोर बुलाए गए। लेकिन बाढ़ के कारण पानी में उतरने से इनकार कर दिया। इसके बाद एनडीआरएफ को बुलाया गया है।

डॉक्टर त्रिपाठी को पिछले महीने सीएम योगी ने बस्ती के सीएमओ पद से हटाकर मिर्जापुर में वरिष्ठ परामर्शदाता के पद पर भेजा था। उनकी डाक्टर पत्नी वाराणसी में तैनात हैं। शनिवार की सुबह वाराणसी से मिर्जापुर के लिए डाक्टर त्रिपाठी कार से निकले थे। इसी दौरान भटौली स्थित गंगा पुल को पार करते ही कार रुकवाई। चालक पवन से कार साइड में लगाने को कहा और शौच जाने की बात कहते हुए कहीं चले गए। अपना मोबाइल और पर्स आदि भी कार में ही छोड़ दिया।

करीब डेढ़ घंटे तक डॉक्टर त्रिपाठी नहीं लौटे तो चालक को शंका हुई। उसने पहले आसपास खोजा। काफी देर तक कुछ पता नहीं चला तो डाक्टर के ही मोबाइल से उनकी पत्नी को मामले की जानकारी दी। इसके बाद अधिकारियों को जानकारी हुई तो खलबली मच गई। स्थानीय पुलिस के साथ ही आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। उनकी डाक्टर पत्नी भी वाराणसी से पहुंच गईं।

एसपी देहात कोतवाली के साथ ही कछवा थाने की पुलिस और सीएमओ डॉक्टर ओपी तिवारी के अलावा चिकित्सा विभाग के कई अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं। फिलहाल कोई कुछ कहने को तैयार नहीं है।पुलिस विभिन्न पहलुओं की जांच करने की बात कह रही है। पुलिस ने गोताखोरों को गंगा में खोजबीन के लिए बुलाया लेकिन बाढ़ जैसी स्थिति के कारण गोताखोर पानी में नहीं उतरे। ऐेसे में वाराणसी से एनडीआरएफ को बुलाया गया है।

Next Story
Share it