28 C
Uttar Pradesh
Saturday, September 18, 2021

वीडीओ परीक्षा में हुई धांधली में दोषी कंपनी को विधान परिषद भर्ती कि दी गई ज़िम्मेदारी, अभ्यर्थी ने मांगी इच्छामृत्यु

भारत

e14612343fcbf6d3201345a840e96510?s=120&d=mm&r=g
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.
Basti Khabar Watermark

एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने विधान परिषद् सचिवालय द्वारा रिपोर्टर के पद पर नियुक्ति में भारी भ्रष्टाचार की जाँच की मांग की है।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजी अपनी शिकायत में डॉ. नूतन ठाकुर ने कहा कि इस परीक्षा के अभ्यर्थी अलोक कुमार वर्मा द्वारा उन्हें दी सूचना के अनुसार इस परीक्षा में पूर्व विधान परिषद् सभापति रमेश यादव, प्रमुख सचिव विधान परिषद् तथा प्रमुख सचिव विधान सभा के रिश्तेदारों के साथ ही तनेजा कमर्शियल कॉलेज आलमबाग के अभ्यर्थियों से भारी रिश्वत लेकर शोर्टहैण्ड में बिलकुल शून्य ज्ञान वाले लोगों को गलत ढंग से भर्ती की गयी है।

भर्ती कराये जाने की जिम्मेदारी टीआरएस डाटा प्रोसेसिंग प्राइवेट लि० को दी गयी जबकि इस टीआरएस कंपनी के मालिक वीडीओ परीक्षा में हुई धांधली में एसआईटी जाँच में दोषी पाए जाने पर पहले से ही जेल में बंद हैं। इसके बाद भी विधान परिषद् भर्ती के लिए उसी दागी कंपनी को जानबूझ कर चुना गया ताकि खुल कर बेईमानी की जा सके।

अलोक ने कहा है कि उन लोगों द्वारा बार-बार कहने के बाद भी इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। यदि सरकार न्याय नहीं दे रही है तो उन्हें इच्छामृत्यु की अनुमति ही दे दे।

नूतन ने इसे अत्यंत गंभीर स्थिति बताते हुए अविलंब उच्चस्तरीय जाँच कराते हुए कार्यवाही की मांग की है।

Read More: PCS Result: पीसीएस 2018 का परिणाम बदला, 14 प्रधानाचार्यों का चयन निरस्त

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें