Top

देशद्रोह का आरोपी शरजील इमाम बिहार से गिरफ्तार

देशद्रोह के आरोप में मुकदमा दर्ज होन के बाद फरार चल रहे शरजील इमाम को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया है. यूपी, दिल्ली, असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर पुलिस ने शरजील के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज किया था. उसकी तलाश में छापे मारे जा रहे थे. बिहार से लेकर दिल्ली तक.

27 जनवरी की रात शरजील के भाई और दोस्त को पुलिस ने हिरासत में लिया था.

न्यूज़ एजेंसी ANI का ट्वीट देखिए.

क्यों गिरफ्तार हुए शरजील?

बिहार का ही एग्जांपल दूंगा. हर रोज एक-दो बड़ी रैली होती है. कन्हैया वाली रैली देख लीजिए. पांच लाख लोग थे उस रैली में. मसला सिर्फ इतना-सा है और ये मैं पहले भी कह चुका हूं. पांच लाख लोग हमारे पास ऑर्गनाइज हों, तो हम हिन्दुस्तान और नॉर्थ-ईस्ट को परमानेंटली कट कर सकते हैं. परमानेंटली नहीं कर सकते, तो कम से कम एकाध महीने के लिए तो कर ही सकते हैं.

ये शब्द शरजील इमाम के हैं. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के पीएचडी छात्र. 16 जनवरी को उन्होंने ये बयान दिया था. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में. AMU के कुछ छात्र नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. इसके बाद से कई राज्यों की पुलिस शरजील को खोज रही थी.

कौन है शरजील इमाम?

शरजील इमाम मूल रूप से बिहार का रहने वाला है. जहानाबाद जिले के काको गांव का. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिता मरहूम अकबर इमाम जेडीयू के नेता रह चुके हैं. शरजील जेएनयू से आधुनिक भारतीय इतिहास में पीएचडी कर रहा है. आईआईटी बॉम्बे से ग्रेजुएशन किया है कंप्यूटर साइंस में. नागरिकता संशोधन विधेयक (CAA) के खिलाफ है. इस तरह के विरोध प्रदर्शनों में अपनी बात रखता रहा है.

Next Story
Share it