अमेरिका में दो सांसद कोरोनावायरस से संक्रमित, पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने खुद को किया क्वारेंटाइन

 अमेरिका में दो सांसद कोरोनावायरस से संक्रमित, पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने खुद को किया क्वारेंटाइन

अमेरिका में दो सांसद कोरोनावायरस से संक्रमित, पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने खुद को किया क्वारेंटाइन – Basti Khabar

अमेरिका में बुधवार को दो सांसद इस वायरस से संक्रमित पाए गए. अमेरिका में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 150 का आंकड़ा पार कर गई है जबकि 10,000 लोग इससे संक्रमित हैं.

नई दिल्ली: चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोनावायरस का संक्रमण अब वैश्विक महामारी बन चुका है. हालांकि चीन में इसके संक्रमण के मामलों में लगातार आ रही कमी के बीच गुरुवार को वहां घरेलू संक्रमण का एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया, लेकिन दुनियाभर के अन्य देशों में इसका प्रकोप दिन-ब-दिन बढ़ रहा है.

दुनियाभर में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है. अब तक ये आंकड़ा आठ हज़ार के पार जा चुका है.

अमेरिका में बुधवार को दो सांसद इस वायरस से संक्रमित पाए गए. अमेरिका में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 150 का आंकड़ा पार कर गई है जबकि 10,000 लोग इससे संक्रमित हैं.

चीन में कोरोनावायरस के मामले जनवरी में दर्ज करना शुरू किए जाने के बाद से पहली बार गुरुवार को ऐसा हुआ कि देश में संक्रमण का एक भी घरेलू मामला सामने नहीं आया लेकिन विदेशों से ‘आयातित’ संक्रमण के मामलों में तेजी दर्ज की गई है. चीन में राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि विदशों से संक्रमण के 34 मामले सामने आए हैं और यह आंकड़ा पिछले दो सप्ताह में सर्वाधिक है.

रिपब्लिकन पार्टी के फ्लोरिडा से कांग्रेस सदस्य मारियो डियाज बलार्ट पहले अमेरिकी सांसद हैं जो इस वायरस से संक्रमित हुए हैं.

बलार्ट के कार्यालय ने बताया कि सांसद को शनिवार को बुखार और सिर दर्द की शिकायत हुई थी और बुधवार को उन्हें बताया गया कि वह कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं.

इस बीच डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य एवं सांसद बेन मैक्एडम ने बताया कि उन्हें भी शनिवार को जुकाम जैसे लक्षणों की शिकायत महसूस हुई थी और अब उनके इस वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

READ  ओसामा को पकड़वाने वाले जिस पाकिस्तानी को 10 करोड़ मिलने थे, वो भूखा मर रहा है!

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा कर दी थी.

अमेरिकी सीनेट ने कोरोना वायरस के कारण पैदा हुए संकट में अमेरिकी कर्मियों की मदद करने के लिए 100 अरब डॉलर के आपदा पैकेज को आसानी से मंजूरी दे दी. प्रतिनिधि सभा से इसे पहले ही मंजूरी मिल चुकी है. राष्ट्रपति ट्रम्प के हस्ताक्षर के बाद यह लागू हो जाएगा.

वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कोरोना वायरस से हो रहे आर्थिक नुकसान से उबरने के लिए ‘यूरोजोन’ में ‘वित्तीय एकजुटता’ और बढ़ाए जाने की अपील की है.

चिली के राष्ट्रपति सेबैस्टियन पिनेरा ने कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर ‘आपदा की स्थिति’ घोषित कर दी है जबकि क्यूबा में संक्रमण से मौत का पहला मामला सामने आया है.

इस बीच, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो का एक मंत्री संक्रमित पाया गया है.

कोरोनावायरस से लड़ने को रक्षा उत्पादन अधिनियम लागू करेगा अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि उनका प्रशासन रक्षा उत्पादन अधिनियम लागू करेगा. इस कदम के जरिए कोरोनावायरस प्रकोप से निपटने के लिए मास्क और दस्ताने समेत प्रमुख चिकित्सा आपूर्ति और उपकरणों के घरेलू निर्माण में तेजी आएगी.

अमेरिका में कोरोनावायरस संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या 6500 के पार चली गई है जबकि 115 लोगों की जान जा चुकी है.

कोरिया से युद्ध शुरू होने पर 1950 में इस अधिनियम को कांग्रेस ने पारित किया था. इसके तहत राष्ट्रपति राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित औद्योगिक उत्पादन को बढ़ाने का आदेश दे सकते हैं.

READ  What will Ramadan 2020 look like for Muslims across the globe?

दुनियाभर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर दो लाख हुई

दुनियाभर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर बुधवार को दो लाख के पार हो गई. यूरोप, उत्तरी अमेरिका और एशियाई देशों की सरकारें इस जानलेवा वायरस को रोकने के लिये एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं.

दुनियाभर में मृतकों की संख्या आठ हजार हो गई है. यूरोप में भी मौत का आंकड़ा बढ़ा है, जहां इस बीमारी से अबतक कुल 3,437 लोग दम तोड़ चुके हैं. इनमें सबसे अधिक 2,503 मौतें इटली में हुईं. पूरे यूरोप में 79,000 से अधिक लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हैं.

वहीं दक्षिण अफ्रीका में बुधवार को एक दिन में कोरोनावायरस के सबसे अधिक 31 मामले सामने आए, जिससे देश में इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 116 हो गई.

दक्षिण अफ्रीका में कोरोनावायरस का सबसे पहला मामला पांच मार्च को सामने आया था, जब इटली से लौटे एक व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी.

इस बीच ईरान ने बुधवार को कहा कि उसके यहां कोरोना वायरस से हुई मौतों का आंकड़ा एक हजार के पार पहुंच गया है. राष्ट्रपति हसन रूहानी ने वायरस से निपटने के लिये सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का बचाव किया.

रूहानी सरकार ने कहा कि देश में कोरोना से 1,135 लोगों की मौत हो चुकी है और 17,361 लोग इससे संक्रमित हैं.

वहीं रूस ने बुधवार को कहा कि देश में कोरोनावायरस के मामलों की संख्या में एक ही रात में 29 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और कुल 147 लोग इससे संक्रमित हैं.

वहीं पाकिस्तान में भी बुधवार को कोरोनावायरस से पहली मौत होने का मामला सामने आया है. देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 289 हो गई है.

READ  ऑस्कर: पैरासाइट सर्वश्रेष्ठ फिल्म, फीनिक्स और रेनी सर्वश्रेष्ठ अभिनेता-अभिनेत्री चुने गए

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने चीन से लौटने के बाद खुद को पृथक रखा

पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बुधवार को कहा कि हाल ही में वह चीन की यात्रा कर के लौटे हैं इसलिए कोरोनावायरस फैलने के खतरे को देखते हुए एहतियात के तौर पर खुद को पांच दिन तक पृथक रखेंगे.

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के साथ इस सप्ताह चीन की यात्रा पर गए प्रतिनिधिमंडल में कुरैशी भी शामिल थे. कुरैशी ने जियो टीवी से कहा, ‘चीन जाने से पहले स्वैब की जांच की गई थी जो नकारात्मक आई थी.’

कुरैशी ने कहा, ‘चीन पहुंचने पर स्वैब और रक्त की जांच फिर की गई जो नकारात्मक आई थी और उसके बाद ही हमारी बैठक हुई थी. चीन से निकलने से पहले रक्त की एक और जांच की गई थी जिसका नतीजा आज आएगा.’

कुरैशी ने कहा कि उन्होंने खुद को पृथक करने का निर्णय एहतियात के तौर पर लिया है.

दुनियाभर के कर्मचारियों को 2020 में 3,400 अरब डॉलर के वेतन का नुकसान हो सकता है: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को कहा कि कोरोनावायरस के चलते करोड़ों लोग बेरोजगारी, अल्प रोज़गार और गरीबी के दलदल में फंस जाएंगे, जिससे दुनियाभर के कर्मचारियों को इस साल 3,400 अरब डॉलर के वेतन का नुकसान हो सकता है.

अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन ने अपनी एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा, ‘रोजगार में गिरावट का मतलब है कि कर्मचारियों को वेतन में भारी नुकसान होगा.’

संगठन के अनुसार कर्मचारियों को 2020 के अंत तक 860 अरब डॉलर से 3,400 अरब डॉलर का नुकसान हो सकता है.

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)