33 C
Uttar Pradesh
Sunday, October 17, 2021

UP DGP: IPS मुकुल गोयल बने उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी, लंबे मंथन के बाद यूपी को मिले नए DGP

भारत

1987 बैच के IPS मुकुल गोयल बने उत्तरप्रदेश के नए डीजीपी. मुकुल गोयल उत्तर प्रदेश में अपने कार्यकाल में आजमगढ़ के एसपी और वाराणसी, गोरखपुर, सहरानपुर, मेरठ जिलों के एसएसपी रह चुके हैं. इसके अलावा कानपुर, आगरा, बरेली रेंज के डीआईजी और बरेली जोन के आईजी भी रह चुके हैं.

1987 बैच के IPS मुकुल गोयल बने उत्तरप्रदेश के नए डीजीपी, इन पदों पर रह चुके हैं काबिज
UP के नए डीजीपी मुकुल गोयल (फाइल फोटो).

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के डीजीपी (Director General of Police) पद के लिए बीएसएफ में एडीजी के पद पर चंडीगढ़ में तैनात आईपीएस मुकुल गोयल के नाम पर मुहर लगी है. 22 फरवरी 1964 को जन्मे मुकुल गोयल यूपी कैडर के 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. इन्होंने बीटेक व एमबीए की डिग्री प्राप्त कर रखी है. बता दें यूपी के संभावित डीजीपी की लिस्ट में मुकुल गोयल का नाम सबसे आगे था. इसके बाद आरपी सिंह, देवेंद्र चौहान और आंनद कुमार भी रेस में थे.

जानिए कौन हैं मुकुल गोयल ?

मुकुल गोयल मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं. उन्होंने आईआईटी दिल्ली से बीटेक की पढ़ाई के बाद एमबीए भी किया. मुकुल गोयल उत्तर प्रदेश में अपने कार्यकाल में आजमगढ़ के एसपी और वाराणसी, गोरखपुर, सहरानपुर, मेरठ जिलों के एसएसपी रह चुके हैं. इसके अलावा कानपुर, आगरा, बरेली रेंज के डीआईजी और बरेली जोन के आईजी भी रह चुके हैं.

इन पदों पर रह चुके हैं काबिज IPS मुकुल गोयल

अपने कार्यकाल में आजमगढ़ के एसपी और वाराणसी,गोरखपुर, सहरानपुर, मेरठ जिलों के एसएसपी रह चुके हैं. मुकुल आगरा, कानपुर, बरेली रेंज के डीआईजी (DIG) और बरेली जोन के आईजी (IG) भी रह चुके हैं. इसके अलावा मुकुल गोयल केंद्र में आईटीबीपी, बीएसएफ, एनडीआरएफ (NDRF) में भी काम कर चुके हैं. 

अखिलेश सरकार में यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के पद पर भी रह चुके हैं तैनात 

यूपी में एडीजी रेलवे, सीबीसीआईडी और अखिलेश यादव की सपा सरकार में यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के पद पर भी तैनात रहे चुके हैं. आईपीएस मुकुल गोयल वर्तमान में बीएसएफ (BSF) में एडीजी के पद पर तैनात हैं. मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान अरुण कुमार को हटाकर मुकुल गोयल को ही एडीजी लॉ एंड ऑर्डर बनाया गया था. 

आईपीएस मुकुल गोयल का विवादों से भी रहा नाता

आईपीएस मुकुल से जुड़े विवादित मुद्दों की बात करें तो 2000 में बतौर एसएसपी सहारनपुर में तैनाती के दौरान बीजेपी विधायक निर्भय पाल सिंह की हत्या के बाद निलंबित किए गए थे। 2006 में यूपी में बड़े पैमाने पर पुलिस भर्ती चल रही थी उस दौरान मुकुल गोएल डीआईजी के पद पर आगरा में तैनात थे और वहां के भर्ती बोर्ड के प्रमुख थे। 2007 में मायावती सरकार आने के बाद जब इन मामलों में अफसरों का निलंबन और मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई शुरू हुई तब तक मुकुल गोएल और दलजीत चौधरी प्रतिनियुक्ति पर केंद्र में चले गए थे। 2012 में सत्ता में वापसी के बाद समाजवादी पार्टी की सरकार ने सभी मुकदमे वापस ले लिए थे।

विदाई पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम 

पूर्व डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के मुताबिक उनके रिटायरमेंट पर किसी भी तरह का बिदाई समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा.  दरअसल डीजीपी के रिटायरमेंट पर रैपिड परेड का आयोजन किया जाता है, जिसे कोरोना के चलते एच सी अवस्थी ने मना कर दिया है. मौजूदा डीजीपी एच सी अवस्थी आज यानी 30 जून को रिटायर हो रहे हैं.

बता दें, उत्तर प्रदेश में आज यानि 30 जून को डीजीपी समेत 21 पुलिस अफसर रिटायर हो रहे हैं. इनमें 9 आईपीएस और 12 पीपीएस अफसर शामिल हैं. 21 पुलिस अफसरों में यूपी काडर और प्रांतीय पुलिस सेवा के अधिकारी शामिल थे रिटायर होने वाले आईपीएस अफसरों में 2 डीजी रैंक, 2 आईजी रैंक, 3 डीआईजी रैंक और 2 एसपी रैंक के अफसर शामिल हैं.

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें