30 C
Uttar Pradesh
Saturday, September 18, 2021

अक्षरा सिंह पर अश्लील गाने को लेकर गायक के खिलाफ मामला दर्ज कराने यूपी फ़िल्म मेकर एसोसिएशन जाएगा उच्च न्यायालय

भारत

dd3a5fdf0bb8aa8f41028ddbff8325ae?s=120&d=mm&r=g
Brihaspati Kumar Pandey
Journalist Basti Khabar & Special Correspondent Saras Salil Magazine and other Daily News papers.
UP Film Maker Association will go to the High Court to register a case against the singer for the obscene song on Akshara Singh
UP Film Maker Association will go to the High Court to register a case against the singer for the obscene song on Akshara Singh

अक्षरा सिंह को लेकर अश्लील गाना गाने वाले गायक नीलकमल सिंह को गाना पड़ा महँगा, उत्तरप्रदेश फ़िल्म मेकर एसोसिएशन उच्च न्यायालय में करेंगें मामला दर्ज।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश फ़िल्म मेकर एसोसिएशन के अध्यक्ष शशिनाथ दुबे ने अश्लीलता के खिलाफ मुहिम छेड़ने की ठान ली हैं। उन्होंने तय कर लिया हैं कि संगठन अश्लीलता के खिलाफ उच्च न्यायालय जाएगी।

आयें दिन देखा जाता रहा हैं कि भोजपुरी फ़िल्मों व सोशल मीडिया यूट्यूब आदि पर अश्लीलता अपने चरम पर हैं। खासकर भोजपुरी गायक अश्लील गीत संगीत परोस कर एक प्रकार से भोजपुरी समाज को बदनाम करने में लगें हैं।

हाल ही में नीलकमल सिंह द्वारा भोजपुरी अभिनेत्री अक्षरा सिंह से संबंधित अश्लील व शर्मनाक गीत गाया गया गया। जो सोशल मीडिया में वायरल हैं। इस प्रकार के कई मामलें आयें दिन देखने को मिलतें हैं। लेकिन यह मामला जब गरमाया और भोजपुरी फिल्म के गायक नीलकमल सिंह ने अशोभनीय कुकृत्य करते हुए भोजपुरी की मशहूर अदाकारा को लेकर इतने गंदे व अभद्र शब्दो का प्रयोग किया जिसे कोई भी अपनी पत्नी के सामने भी नहीं बोल सकता हैं।

इस वायरल गाने में फ़िल्म अभिनेत्री अक्षरा सिंह, खेसारी लाल यादव और पवन सिंह के नाम के साथ गाना गाया हैं। जो आज के समय में सोशल मीडिया पर हड़कंप मचाया हुआ है, इसके विरोध में उत्तर प्रदेश फ़िल्म मेकर एसोसिएशन ऐसे गायको के खिलाफ कानूनी करवाई करने को लेकर तैयार है।

संगठन के अध्यक्ष शशिनाथ दुबे निर्माता व वरिष्ठ पत्रकार हैं। उनका कहना हैं कि भोजपुरी समाज में महिला को सम्मान दिया जाता हैं। ऐसे में अश्लील गीत संगीत व द्विअर्थी संवाद की फ़िल्मों का विरोध होना चाहिये। इस तरह के असामाजिक गीत संगीत और फ़िल्मो पर रोक लगानी चाहिए। जिससे भोजपुरी समाज सुरक्षित रहे।

वर्तमान समय में भोजपुरी समाज इतना अच्छा समाज हैं और भोजपुरी समाज की महिलायें संस्कारी हैं। ऐसे में अश्लीलता अनुचित व असभ्य हैं। इसके खिलाफ उतरप्रदेश फ़िल्म मेकर एसोसिएशन हाईकोर्ट इलाहाबाद में मामला दाखिल करने की योजना बना चुकी हैं। शशिनाथ दुबे ने यह भी कहा कि वे अक्षरा सिंह के साथ हैं। सभी के घर परिवार में बहन माँ बेटी बहु है। नीलकमल सिंह के घर में शायद नहीं हैं। जिसके कारण वह असभ्य गीत संगीत से सुसज्जित गाने गाकर स्टार बनना चाहते हैं। जनता से अपील भी करते हुए शशिनाथ दुबे ने कहा दर्शक वर्ग भी आवाज उठाये कि भोजपुरी समाज में अश्लीलता गलत है।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें