Top

शाहीन बाग प्रदर्शन की कवरेज़ पर सुधीर चौधरी द्वारा दिये गए "देश में वीजा लेने" के बयान पर यूपी वालों ने घेरा

शाहीन बाग प्रदर्शन की कवरेज़ पर सुधीर चौधरी द्वारा दिये गए देश में वीजा लेने के बयान पर यूपी वालों ने घेरा
X

शाहीन बाग प्रदर्शन की कवरेज़ पर सुधीर चौधरी और दीपक चौरसिया द्वारा दिये गए "देश में वीजा लेने" के बयान पर हाथरस में मीडिया को रोके जाने से जोड़कर लोगों ने इनकी पत्रकारिता केटेगरी बना दी।

दिल्ली के शाहीन बाग में 24 जनवरी को सीएए कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों की कवरेज़ करने गए Zee News के एडिटर-इन-चीफ़ सुधीर चौधरी और पत्रकार दीपक चौरसिया को कवरेज़ करने से रोका गया था, और गोदी मीडिया गो बैक के नारे लगाए गए थे, जिसकी आलोचना करते हुये दोनों पत्रकारों ने तंज़ कसते हुये "देश के किसी कोने मे जाने के लिए वीजा लेने" की बात कही थी। और प्रदर्शनकारियों द्वारा कवरेज़ करने से रोकने को असंवैधानिक बताया था। सुधीर चौधरी ने प्रदर्शनकारियों से यहाँ तक कहा था कि, "क्या अब हमें अपने ही देश के किसी हिस्से में जाने के लिए वीजा लेना होगा! हमें यह अधिकार है कि हम आपके पास आयें, हमे कोई रोक नही सकता,"



उस समय के Zee News मीडिया रेपोर्ट्स के आधार पर अब लोग हाथरस मामले में प्रशासन द्वारा मीडिया को कवरेज़ करने से रोकने की घटना को जोड़कर सुधीर चौधरी और दीपक चौरसिया से सवाल कर रहे हैं कि, शाहीन बाग में अगर कवरेज़ नही कर पाये तो वीजा लेने कि बात कही गयी, वहाँ धारा 370 होने का जिक्र किया गया था। लेकिन जब यूपी में एक गैंगरेप पीड़ित परिजनों से मीडिया मिलने जाती है तो उसे रोक दिया जाता है, महिला पत्रकारों के साथ बदसूलूकी की जाती है:, इस पर सुधीर चौधरी क्यों नही कुछ बोलते!



आपको बता दें कि, दिल्ली के शाहीन बाग में उस समय लोग सीएए कानून के खिलाफ लगातार कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन हाथरस में एक बेटी से साथ हुये वीभत्स कृत्य की कवरेज़ व पीड़ित परिजनों से बात करने गए लगभग सभी पत्रकारों को रोक दिया गया। जिसको लेकर यूपी सरकार को आम जनता और पत्रकारों के कड़े आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा।

Rajan Chaudhary

Rajan Chaudhary

Chief Editor Basti Khabar, Owner of Internet Technology Tips Website "The Internet Tips"


Next Story
Share it