Top

UP Top Breaking: यूपी मुख्यमंत्री बने मजदूरों के मसीहा, बेहतर हो सकता है कामगारों का भविष्य

लखनऊ| सीएम योगी आदित्यनाथ ने आदेश जारी किया है कि भविष्य मे जो भी राज्य, उत्तर प्रदेश के मजदूरों को अपने राज्य में बुलाना चाहते है उन्हें युपी सरकार की पूर्वानुमति लेनी होगी, करार करना होगा कि उनके राज्य मे मजदूरों के अधिकारों की रक्षा की जायेगी।

इसके साथ ही 24 मई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुये जानकारी दी थी कि, प्रवासी कामगारों को राज्य स्तर पर बीमा का लाभ देने की व्यवस्था की जा रही है। साथ ही, ऐसी कार्ययोजना भी तैयार की जा रही है, जिससे इन लोगों की जॉब सिक्योरिटी प्रदेश में ही सुनिश्चित की जा सके और इन्हें मजबूर हो कर अपने घर-परिवार से दूर नौकरी की तलाश में पलायन न करना पड़े।

योगी के इस फरमान और लॉकडाउन में शुरू किए गए मजदूरों के भविष्य को तय करने वाली रणनीति से अनुमान लगाया जा रहा है कि कोरोना महामारी के बीच प्रवासी मदजूरों व प्रदेश के कामगार तबके की जिस तस्वीरों को लोगों ने देखा उसे फिर कभी न देखने के संकल्प में यह निर्णय लिया जा रहा है| जिसके क्रम में मजदूरों के भविष्य की चिंता करते हुये उनके खुशहाल जीवन की विकास रेखा का खाका बनाने का काम शुरू कर दिया गया है|

Next Story
Share it