Top

कोरोना: मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाते हुए मेयर ने कहा- वुहान बनने जा रहा आगरा, बचा लीजिए

उत्तर प्रदेश के आगरा के मेयर नवीन जैन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में कहा है कि हॉट स्पाट एरिया में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में कई-कई दिनों तक जांच नहीं हो पा रही. न ही मरीजों के लिए भोजन पानी का उचित प्रबंध हो पा रहा है.

आगरा: कोरोना वायरस महामारी के आगरा शहर में भयानक रूप लेने की चेतावनी जारी करते हुए शहर के मेयर ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखकर तुरंत कदम उठाने की अपील करने के साथ ही कहा है कि आगरा, देश का वुहान बन सकता है.

शहर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने का दावा करते हुए मेयर नवीन जैन ने शहर में कोरोना की स्थिति और जिला प्रशासन की लचर कार्रवाई से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को पत्र लिखकर अवगत कराया है.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस पत्र में उन्होंने लिखा है, ‘मैं बहुत दुखी मन से आप को पत्र लिख रहा हूं कि मेरा आगरा अत्यधिक संकट के दौर से गुजर रहा है. आगरा को बचाने के लिए कड़े निर्णय लेने की आवश्यकता है. स्थिति अत्यधिक गंभीर हो चुकी है. इसलिए मैं आपसे हाथ जोड़कर प्रार्थना कर रहा हूं कि मेरे आगरा को बचा लीजिए, बचा लीजिये.’

महापौर ने यह पत्र 21 अप्रैल को लिखा था जो 25 अप्रैल की रात्रि से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

पत्र में मेयर ने आगे लिखा है, ‘आगरा, देश का वुहान बन सकता है. स्थानीय प्रशासन नाकारा साबित हुआ है. …हॉट स्पाट एरिया में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में कई-कई दिनों तक जांच नहीं हो पा रही. न ही मरीजों के लिए भोजन पानी का उचित प्रबंध हो पा रहा. …स्थिति विस्फोटक है.’

इस पत्र में मेयर ने शहर में कोरोना के बिगड़ते हालात और आम जनमानस को होने वाली परेशानी के लिए सीधे-सीधे जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को जिम्मेदार ठहराया है.

यहां यह जिक्र करना जरूरी है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए तैयार किया गया आगरा मॉडल काफी कारगर साबित हुआ था. इस मॉडल की मदद से प्रशासन ने जिले में कोरोना की चेन को तोड़ दिया था. खुद स्वास्थ्य विभाग ने आगरा मॉडल की तारीफ करते हुए अन्य राज्यों से इस मॉडल का अनुसरण करने की अपील की थी.

आगरा के मेयर नवीन जैन की चिट्ठी के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस मामले को सरकार के सामने उठाया.

मेयर नवीन जैन द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखी चिट्ठी को रिट्वीट करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा, ‘आगरा शहर में हालात खराब हैं और रोज नए मरीज निकल रहे हैं. आगरा के मेयर का कहना है कि अगर सही प्रबंध नहीं हुआ तो मामला हाथ से निकल जाएगा. कल भी मैंने इसी चीज को उठाया था. पारदर्शिता बहुत जरूरी है. टेस्टिंग पर ध्यान देना जरूरी है. कोरोना को रोकना है तो फोकस सही जानकारी और सही उपचार पर होना चाहिए. सरकार द्वारा आगरा मेयर की बातों को सकारात्मक भाव से लेना और तुरंत पूरी तरह से आगरा की जनता को महामारी से बचाने का प्रयास करना महत्वपूर्ण है.’

यह बीमारी चीन के वुहान शहर से शुरू हुई थी और वहां इस बीमारी का भयानक रूप सामने आया था.

बता दें कि, आगरा में कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 25 अप्रैल की सुबह बढ़कर 358 हो गई थी. इसमें से आठ की मौत हो चुकी है जबकि 36 लोग स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट चुके हैं. अभी तक आगरा में 4605 लोगों की जांच की जा चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Next Story
Share it