Top

जिलाधिकारी अचानक पहुंचे ओपेक कैली अस्पताल, सफाई व्यवस्था दुरुस्त ना मिलने पर सफाई ठेकेदार को थमाऐ नोटिस

बस्ती। ओपेक कैली अस्पताल में सफाई व्यवस्था दुरुस्त न पाए जाने पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन असंतोष व्यक्त करते हुए सफाई ठेकेदार को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस जैसी महामारी के दौर में अस्पताल में नियमित रूप से साफ-सफाई एवं सैनिटाइजेशन का कार्य होते रहना चाहिए।

लगभग 12.00 बजे दोपहर में जिलाधिकारी, अधिकारियों के साथ कैली अस्पताल पहुंचे तथा वहां पर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने पाया कि पूरे अस्पताल में कहीं सफाई नहीं हो रही, सफाई ठेकेदार से पूछा गया तो उसने बताया कि सभी लोग भोजन करने गए हैं। जिलाधिकारी ने इस पर गहरा असंतोष व्यक्त किया तथा उन्होने निर्देश दिया कि एक साथ सभी सफाई कर्मी नहीं जाएंगे। सफाई कर्मियों की शिफ्ट्वार डियूटी लगाएं। कोरोना वायरस जैसी महामारी के दौर में नियमित रूप से अस्पतालों की साफ-सफाई होना चाहिए।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि ओपेक कैली अस्पताल के प्रवेश द्वार पर बोर्ड लगाएं। यहां पर कोरोना वायरस से पूरी सुरक्षायुक्त कर्मचारी की ड्यूटी लगाये। इस द्वार से केवल कोरोना वायरस से संबंधित मरीज अंदर आए, उनका परीक्षण कर उनको सैंपल सेण्टर तथा फीवर सेण्टर पर ले जाया जाए। यदि कोरेनटाइन किए जाने की आवश्यकता हो तो ऊपर बने वार्ड में उनको भेजा जाए।

महर्षि वशिष्ठ राजकीय मेडिकल कॉलेज में उन्होंने व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के पीछे बने हुए आवासीय परिसर का निरीक्षण किया तथा आवश्यकता पड़ने पर डॉक्टरों को कोरेनटाइन करने के लिए एक अलग हॉस्टल की व्यवस्था ठीक करने का निर्देश दिया। इस कार्य को 3 दिन में पूरा करने के लिए कार्यदाई संस्था को निर्देशित किया गया। उन्होने जानकारी दी कि यदि कोई नर्स या पैरामेडिकल स्टाफ कोरेनटाइन किया जाता है तो उसके लिए अलग कैली अस्पताल में व्यवस्था बनाई गई है।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों के साथ सरला इंटरनेशनल एकेडमी का निरीक्षण किया। यहां पर लगभग 36 कमरों में लगभग 200 बेड लगाये गए हैं। यहाॅ पर भी आने वाले मरीजो के लिए अलग प्रवेश द्वार निर्धारित किया गया है। भोजन आदि की व्यवस्था भी निर्धारित मीनू के आधार पर करायी जा रही है। निरीक्षण के दौरान प्रधानाचार्य डॉ0 नवनीत कुमार, सीएमएस डॉ0 जीएम शुक्ला, डॉक्टर सोमेश श्रीवास्तव तथा अर्थ एवं संख्याधिकारी टीपी गुप्ता, कार्यदाई संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर एवं अस्पताल का स्टाफ उपस्थित रहा।

Next Story
Share it